Thursday, January 27

Bihar

बिहार के एक और ज़िले को मिला राजधानी एक्सप्रेस का सौग़ात, CRS के निरीक्षण के बाद फ़ैसला
Bihar

बिहार के एक और ज़िले को मिला राजधानी एक्सप्रेस का सौग़ात, CRS के निरीक्षण के बाद फ़ैसला

बिहार के एक और जिले से दिल्ली जाने के लिए राजधानी एक्सप्रेस का परिचालन किया जाएगा। रेलवे द्वारा जारी आधिकारिक जानकारी के अनुसार बिहार से दिल्ली जाने वाले रेल यात्रियों की संख्या को देखते हुए यह बेहतरीन निर्णय लिया गया।   इन दिनों जमालपुर और रतनपुर स्टेशन के बीच बने शानदार सुरंग का कार्य बिलकुल अंतिम चरण में चल रहा है जिसके लिए नन इंटरलॉकिंग भी लिया गया है। इसका परिणाम यह हुआ है कि भागलपुर से जमालपुर के रास्ते जाने वाली कई ट्रेनें रद्द हैं तो वहीं कई ट्रेनों का मार्ग परिवर्तन करके चलाया जा रहा है।   अब आने वाले 28 जनवरी को कमिश्नर ऑफ़ रेलवे सेफ्टी जमालपुर और रतनपुर स्टेशन के बीच बन रहे इस डबल लाइन का जांच करेंगे, जांच के दौरान इस ट्रैक पर 120 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से ट्रेन चलाई जाएगी। इसके साथ साथ इलेक्ट्रिक इंजन भी चलाई जाएगी ताकि ट्रैक की स्पीड की जांच की जा ...
बिहार के इन आठ ज़िलों की बदलेगी सूरत गुजरेगा शानदार फ़ोरलेन, बजट 25,162 करोड़
Bihar

बिहार के इन आठ ज़िलों की बदलेगी सूरत गुजरेगा शानदार फ़ोरलेन, बजट 25,162 करोड़

बिहार राज्य को अब तक का सबसे शानदार एक्सप्रेस वे मिलने वाला है। गोरखपुर से सिलीगुड़ी तक बनाए जा रहे नए एक्सप्रेस वे जिसका नाम गोरखपुर सिल्लीगुडी ग्रीनफ़ील्ड एक्सप्रेस-वे है इसके एलाइनमेंट में तीन राज्य आपस में जुड़ेंगे इन तीनों राज्यों के 12 जिलों की जमीन इस एक्सप्रेस वे में ली जाएगी। इन 12 जिलों में सबसे अधिक जिले बिहार के शामिल हैं, बिहार में यह एक्सप्रेसवे पश्चिमी चंपारण पूर्वी चंपारण शिवहर सीतामढ़ी मधुबनी सुपौल अररिया और किशनगंज से होकर गुजरेगी। इसके अलावा उत्तर प्रदेश के 3 जिले तथा पश्चिम बंगाल का एक जिला इस एक्सप्रेस वे में शामिल होगा। इस एक्सप्रेस-वे के प्रति किलोमीटर की लागत लगभग 48.42 करोड रुपए है, एवं कुल लागत लगभग 25162 करोड़ रुपए है। इस एक्सप्रेस वे का अधिकांश हिस्सा बिहार से होकर गुजरने वाला है जिसमें बिहार के हिस्से में 416 KM सड़क का निर्माण होना है। बिह...
बिहार में भी शुरू हुआ नया चालान सिस्टम, 12 लोगों का कटा दो दो हज़ार का चालान
Bihar

बिहार में भी शुरू हुआ नया चालान सिस्टम, 12 लोगों का कटा दो दो हज़ार का चालान

बिहार में अब नई तकनीक से वहां से रफ्तार पर काबू पाने का प्रयास जिला प्रशासन कर रही है। इसका ताजा उदाहरण बिहार के पटना जिले में देखने को मिल रहा है। जहां पर पुलिस ने नई तकनीक से 12 वाहन चालकों का चालान किया तथा दो ₹2000 तक वाहन से वसूला गया। बिहार में वाहनों की रफ्तार से हो रहे दुर्घटना पर अंकुश लगाने के लिए यह कदम उठाया गया है, क्योंकि सड़क हादसों में बिहार राज्य में सबसे अधिक जान का नुकसान होता है। ऐसे में जिला प्रशासन अब स्पीड रनर गन से वाहनों की रफ्तार की जांच करती है। तथा तय वाहन रफ्तार से अधिक रफ्तार पाए जाने पर वाहनों को रोका जाता है तथा उन्हें तुरंत चालान किया जाता है। इस नई तकनीक से सड़क के किनारे खड़े ट्रैफिक पुलिस कर्मचारी दूर से ही आते वाहनों के रफ्तार को डिवाइस से नापते हैं। उसके बाद तय वाहन रफ्तार सीमा से अधिक पाए जाने पर वाहन को रोक कर चालान किया जाता है।...
बिहार के तीन ज़िलों में बनेगा खादी मॉल, भागलपुर में 40.10 करोड़ से सीपेट ट्रेनिंग सेंटर का होगा निर्माण
Bihar

बिहार के तीन ज़िलों में बनेगा खादी मॉल, भागलपुर में 40.10 करोड़ से सीपेट ट्रेनिंग सेंटर का होगा निर्माण

बिहार के 3 जिलों में खादी मॉल बनाए जाने की घोषणा की गई है यह घोषणा बिहार के उद्योग मंत्री शाहनवाज हुसैन ने रविवार को रेशम भवन में बिहार स्पंज सिल्क मिल में आयोजित कार्यक्रम के दौरान कहा है। साथ-साथ उन्होंने यह भी कहा कि इसके लिए पर्याप्त ट्रेनिंग की भी व्यवस्था दी जाएगी।   बिहार के उद्योग मंत्री ने कहा कि बिहार के भागलपुर जिले में 4 करोड़ रुपए की लागत से नया डाय हाउस बनाया जाएगा। इस डाय हाउस में रहने वाले छात्रों के लिए 8 करोड़ रुपए से छात्रावास का भी निर्माण किया जाएगा। इसके अलावा बिहार के भागलपुर पूर्णिया और मुजफ्फरपुर जिले में आठ आठ करोड़ रुपए खर्च करके खादी मॉल का निर्माण किया जाएगा।   जमीन की प्रक्रिया पूरी होने के बाद जल्द ही खादी मॉल का निर्माण शुरू कर दिया जाएगा, इसके अलावा भी यहां पर हैंडलूम पार्क भी खोले जाने का प्रस्ताव रखा गया है। बिहार के भागलपुर जिले में...
बिहार के लिए नए हाईवे को मिली मंज़ूरी, ज़मीन मालिकों को मिलेगा तीन गुना रक़म, बनेंगे पाँच पूल
Bihar

बिहार के लिए नए हाईवे को मिली मंज़ूरी, ज़मीन मालिकों को मिलेगा तीन गुना रक़म, बनेंगे पाँच पूल

बिहार वासियों के लिए केंद्र सरकार ने एक बड़े ही शानदार प्रोजेक्ट को मंजूरी दे दी है। केंद्र सरकार के द्वारा मंजूरी मिलने के बाद विभाग अब टेंडर प्रक्रिया के लिए पूरी तैयारी में जुट गया है। सड़क निर्माण का कार्य इसी चालू है वित्तीय वर्ष में आरंभ करने का लक्ष्य रखा गया है। साथ-साथ इस प्रोजेक्ट के मंजूरी से विकास के रास्ते तो खुलेंगे ही 2 जिलों के साथ-साथ दो प्रदेशों का भी जुड़ाव संभव हो सकेगा। केंद्र सरकार ने इसी चालू वित्तीय वर्ष में बक्सर मोहनिया नेशनल हाईवे सड़क के लिए मंजूरी दी है जिसका भूमि अधिग्रहण का कार्य शुरू भी हो गया है। इस नेशनल हाईवे के निर्माण के लिए भू अर्जन विभाग में नेशनल हाईवे अथॉरिटी को भूमि कि कागजात सत्यापित करके सौंप दिया। जानकारी के लिए आपको बता दें कि इस नेशनल हाईवे से तीन मौजों को किसी भी प्रकार का नुकसान नहीं होने वाला है, इसका मतलब है रामगढ़ गोडसरा और बंदी पु...
बिहार के इन रेलवे स्टेशनो से सफ़र करना होगा महँगा, टिकट के अलावा देने होंगे एक्स्ट्रा 50 रुपए
Bihar

बिहार के इन रेलवे स्टेशनो से सफ़र करना होगा महँगा, टिकट के अलावा देने होंगे एक्स्ट्रा 50 रुपए

रेल भूमि विकास प्राधिकरण द्वारा पब्लिक प्राईवेट पार्ट्नरशिप मोड पर भारत के 123 रेलवे स्टेशनो को विकसित करने का ज़िमा दिया गया है। जिसमें बिहार के भी कुछ रेलवे स्टेशन अनेक राज्यों के रेलवे स्टेशन का नाम शामिल है। इस योजना में चुने गए स्टेशनो पर विश्वस्तरीय सुविधाए उपलब्ध कराने का लक्ष्य रखा गया है। अब इन रेलवे स्टेशनो के री-डेभलपमेंट का भार रेलयात्रियो पर भी पड़ने वाला है, रेलयात्रियो को अब स्टेशन विकास शुल्क के नाम पर टिकट के अलावा और 50 रुपए देने होंगे, हालाँकि यह शुल्क अलग अलग श्रेणी के यात्रीयो के लिए अलग अलग दर में विभाजित किया गया है। सभी श्रेणियो के लिए यह शुल्क 10 से 50 रुपए के बीच ही रहेगा। पूर्व मध्य रेल द्वारा जारी सूचना के अनुसार बिहार के आठ रेलवे स्टेशनो का चयन हुआ है, ये हैं उन स्टेशनो के नाम राजेंद्र नगर टर्मिनल गया मुज़फ़्फ़रपुर मोतिहारी बेगुसराय सिंगरौली सीताम...
बिहार से हावड़ा यह ट्रेन अब सप्ताह में दो दिन चलेगी, रेलयात्रियो के लिए ख़ुशख़बरी
Bihar

बिहार से हावड़ा यह ट्रेन अब सप्ताह में दो दिन चलेगी, रेलयात्रियो के लिए ख़ुशख़बरी

बिहार में रेल यात्रियों की सुविधा को देखते हुए रेलवे प्रशासन ने एक बहुत ही बेहतरीन फैसला लिया है। जिससे रेल यात्रियों में खुशी एवं बहुत सहूलियत मिलेगी। बिहार से हावड़ा रोड पर रेल यात्रियों की संख्या बहुत अधिक है जिसको देखते हुए रेलवे निर्णय लिया है की बिहार से हावड़ा जाने वाली ट्रेन बाड़मेर हावड़ा साप्ताहिक एक्सप्रेस सप्ताह में 1 दिन नहीं बल्कि 2 दिन चलाई जाए।   बाड़मेर हावड़ा सप्ताहिक एक्सप्रेस 25 जनवरी से अब सप्ताह में 2 दिन चलाई जाएंगी। गाड़ी संख्या 12323 हावड़ा से यह ट्रेन शुक्रवार और मंगलवार को चलाई जाएगी। वहीं दूसरी गाड़ी संख्या 12324 बाड़मेर हावड़ा साप्ताहिक एक्सप्रेस 29 जनवरी से सप्ताह में 1 दिन नहीं बल्कि 2 दिन परिचालन की जाएगी। बाड़मेर से यह ट्रेन प्रत्येक बुधवार और शनिवार को चलाई जाएगी।   पहले की तरह की ट्रेन का रूट एवं समय तय रहेगा, इस ट्रेन के रूट में किस...
बिहार की ये प्रमुख व्यस्त ट्रेने 28 जनवरी तक बंद, नन इंटरलाकिंग के वजह से ट्रैफ़िक ब्लॉक
Bihar

बिहार की ये प्रमुख व्यस्त ट्रेने 28 जनवरी तक बंद, नन इंटरलाकिंग के वजह से ट्रैफ़िक ब्लॉक

बिहार के रेलयात्रियो के लिए 28 जनवरी तक यात्रा से थोड़ी कठिनाइयो का सामना करना पड़ेगा, क्योंकि बिहार के भागलपुर से जमालपुर के बीच बने सुरंग के वजह से नन इंटरलाकिंग लिया जा रहा है, इस वजह से के ट्रेनो के परिचालन पर असर पड़ेगा। कुछ ट्रेने 28 जनवरी तक के लिए रद्द की गयी, तो वही कुछ रूट बदलकर चलाई जाएँगी, हम आपको बता रहे उन सभी एक्सप्रेस ट्रेनो के बारे में जो रद्द रहेंगी।   22406 आनंद विहार-भागलपुर गरीब रथ 24 जनवरी को रद्द, 22405 भागलपुर-आनंद विहार गरीब रथ 25 जनवरी को रद्द, 13419 भागलपुर मुजफ्फरपुर जनसेवा एक्सप्रेस 23 से 27 जनवरी तक रद्द , 13420 मुजफ्फरपुर भागलपुर जनसेवा एक्सप्रेस 23 से 27 जनवरी तक रद्द, 13236 दानापुर-साहिबगंज इंटरसिटी 24 से 28 जनवरी तक रद्द। 13235 साहिबगंज-दानापुर इंटरसिटी 24 से 28 जनवरी तक रद्द, 15553 जयनगर भागलपुर एक्सप्रेस 24 से 28 जनवरी तक रद्द , 15554 भागलु...
बिहार को मिला एक और शानदार एक्सप्रेस-वे, अब 13 घंटे का सफ़र सिर्फ़ 6.5 घंटे में पूरा होगा
Bihar

बिहार को मिला एक और शानदार एक्सप्रेस-वे, अब 13 घंटे का सफ़र सिर्फ़ 6.5 घंटे में पूरा होगा

बिहार को एक और शानदार एक्सप्रेस-वे मिलने वाला है, जो की भारतमाला परियोजना का दूसरा फ़ेज़ के तहत बनाया जाएगा। इस एक्सप्रेस वे के बन जाने से बिहार से दिल्ली जाना और भी विकल्प उपलब्ध हो जाएगा। जानकारी के लिए आपको बता दें की इन एक्सप्रेस वे की कुल लम्बाई 600 KM है। इस परियोजना में वन विभाग का ज़मीन इंस्तेमाल नही किया जाएगा, इसके अलावा क़रीब 1757 हेक्टेयर ज़मीन का अधिग्रहण किया जाना है। जिन अंचलो से यह एक्सप्रेस वे से गुजरेगा उन अंचलो के अधिकारियों से रिपोर्ट माँगी गयी है। सत्यापन करके यह रिपोर्ट NHAI को भेजी जाएगी। इस एक्सप्रेस-वे के बनने का सबसे बड़ा फ़ायदा वाराणसी से कोलकाता जाने वालों को मिलेगा, क्योंकि फ़िलहाल इस यात्रा में लगभग 12 से 13 घंटे का लगता है। अब इस नए रूट से यह समय घटकर मात्र छह से साढ़े छह घंटे का रह जाएगा। सबसे अहम जानकारी बिहार में यह एक्सप्रेस वे कैमूर ज़िले क...
बिहार का नया बाईपास लगभग तैयार, जून से जनता के लिए नए रूट का विकल्प सम्भव
Bihar

बिहार का नया बाईपास लगभग तैयार, जून से जनता के लिए नए रूट का विकल्प सम्भव

बिहार के पटना जिले में एक और खूबसूरत बाईपास बनकर तैयार हो रहा है। इस बाईपास के निर्माण हो जाने से गाड़ियाँ अब पटना के व्यस्त ट्रैफिक में बिना दाखिल हुए नालंदा एवं दक्षिण बिहार के क्षेत्रों में निकल जाएँगी। बिहार वासियों का यह सपना इसी साल के पांचवे महीने यानी जून में पूरा हो जाएगा। इस प्रोजेक्ट में फिलहाल दो अप्रोच रोड तथा दो रेलवे ओवर ब्रिज का निर्माण किया जाना है, इस कार्य को तेजी से करने के लिए बिहार राज्य पथ परिवहन निगम के अधिकारियों ने एजेंसी को निर्देश दिया है। खर्च की बात की जाए तो 94 किलोमीटर के इस प्रोजेक्ट पर लगभग 1916 करोड़ रुपए खर्च किए जा रहे हैं। 94 किलोमीटर में लगभग 70 किलोमीटर की लंबाई का कार्य पूरा हो चुका है जिस पर गाड़ियों का परिचालन भी किया जा रहा है। सिर्फ रेलवे ओवरब्रिज और अप्रोच रोड के निर्माण नहीं होने की वजह से आवागमन थोड़ी बाधित है।...