वर्तमान समय की महिलाएं बेटियां होने के बावजूद भी परिवार की सारी जिम्मेदारियों के साथ-साथ देश के लिए अपनी जिम्मेदारी को निभा रही हैं, एक क्षेत्र में नहीं बल्कि प्रत्येक क्षेत्र में दिन पर दिन बुलंदियों को छूने में आगे लड़कियां ही है

परंतु समाज में आज भी ऐसे लोग मौजूद है जो बेटी और बेटे में भेदभाव करते हैं, लेकिन यदि देखा जाए तो वर्तमान समय बेटियां बेटों से ज्यादा बुलंदी हासिल कर,मां-बाप के साथ साथ देश का नाम भी रोशन कर रही है। इन्हीं बेटियों में से एक बेटी महिमा भी है।

 

 

 

21 वर्षीय महिमा ने आर्मी परीक्षा की उत्तीर्ण

पंचकूला के अमरावती में रहने वाली 21 वर्षीय महिमा एसएसबी आर्मी की परीक्षा में प्रथम प्रयास में ही पास नहीं बल्कि टॉप कर लें गई और लेफ्टिनेंट बनके देश का गोरव बढ़ाएंगी महिमा ने पंजाब के इंजीनियरिंग कॉलेज से स्टूडेंट की पढ़ाई की है और पीएसी की स्टूडेंट महीना ने अपने प्रथम ही प्रयास में आर्मी की परीक्षा में प्रथम स्थान प्राप्त किया और वर्तमान समय में इंडियन आर्मी के द्वारा आयोजित प्रतिष्ठान ऑफिसर के पद पर नियुक्त है।

 

आर्मी जॉइन करने का था सपना।

 

 

इंटरव्यू के दौरान महिमा ने बताया वो शुरूआत से एसएसबी परीक्षा द्बारा आर्मी जॉइन करना चाहती और आखिरकार कड़ी मेहनत के फलस्वरुप यह संभव हो पाया है, सफलता हाथ लगी महिमा अभी इंडियन आर्मी के प्रतिष्ठित ऑफिसर पद पर पर कार्यरत है। कोरोना महामारी के कारण महिमा को कई समस्याओं का भी सामना करना पड़ा लेकिन केवल 2 सप्ताह में खुद को फिट करते हुए ना के केवल परीक्षा की तैयारी की साथ ही 700 आवेदकों में प्रथम स्थान भी हासिल किया अपनी सफलता का श्रेय महिमा अपने दोस्तों तथा माता-पिता और बहादुर वशिका त्यागी को दती हैं आगे बताते हुए महिमा ने कहा वशिका त्यागी बचपन से ही उनकी प्रेरणा स्त्रोत रही है..

 

 

देशवासियों की तरफ से बधाई।

बचपन से ही महिमा को सभी क्षात्रों में एक्टिव क्षात्रों में गिना जाता था मेधावी छात्रा रहते हुए महिमा ने अपने कॉलेज के दौरान 90% तक अंक अर्जित करते हुए 4 वर्षों तक कॉलेज में वालंटियर का काम भी किया है, इस सफलता के लिए महिमा को पूरे देशवासियों की तरफ से बहुत बहुत बधाई।

Leave a Reply

Your email address will not be published.