हाईकोर्ट ने कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामले के लिए दायर याचिका का निपटारा कर दिया है जिसमें HC ने कहा जो लोग बंद कार में चलते हैं, उनको भी मास्क लगाना होगा। इस आदेश के बाद कार में अंदर बैठे लोग चाहे वह अकेला हो या फिर एक से अधिक हो। उनको भी मास्क लगाना अनिवार्य होगा। हाईकोर्ट ने कहा अगर कोई व्यक्ति अकेले ड्राइविंग कर रहा है तो मास्क लगाए दिखना चाहिए। कोर्ट का कहना है मास्क एक सुरक्षा कवच के रूप में काम करता है जो कोरोना वायरस को फैलने से रोकता है। कोर्ट में कुल 4 याचिकाएं मास्क को लेकर दायर की गई थी। जिसका निपटारा दिल्ली हाईकोर्ट ने कर दिया है। और ये दिल्ली हाई कोर्ट का आदेश पूरे देश में लागू किया जाएगा।

 

 

मास्क पहनना अहम मुद्दा नहीं –

 

बता दें इसके पूर्व दिल्ली हाई कोर्ट ने सुनवाई के दौरान कहा था मास्क पहनना खास मुद्दा नहीं होना चाहिए। कोर्ट के अनुसार यह कोविड-19 संक्रमण से खुद तथा दूसरों के बचाव का एक तरीका होता है।  हाईकोर्ट ने यह बात एक याचिका पर सुनवाई के दौरान कही थी जिसमें अकेला, निजी कार चलाता हुआ व्यक्ति मास्क नहीं पहनेगा तो उसका चालान काट दिया जाएगा।

 

 

वहीं दूसरी ओर कुछ माह पूर्व केंद्र सरकार के स्वास्थ्य तथा परिवार कल्याण मंत्रालय ने दिल्ली हाई कोर्ट में हलफनामा दायर कर कहा हमारी ओर से ऐसी कोई दिशानिर्देश जारी नहीं किए गए हैं। मतलब के अगर कोई व्यक्ति कार्य में अकेले सफर कर रहा है तो मास्क लगाना आवश्यक नहीं है,  दिल्ली में अकेले गाड़ी में ड्राइविंग करते समय मास्क ना लगाने पर लोगों का 2000 रू का चालान काटा जाता है। इससे पूर्व चालान की राशि ₹500 रखी गई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.