भागलपुर,( कुलसूम फात्मा )  अब बिहार के शहरी एरिया के घरों की छतों पर  होर्डिंग हटाए जाने का कार्य प्रारंभ, या फिर बैनर लगे मिले तो घर के मालिक को भारी कीमत चुकानी पड़ेगी। क्योंकि नगर निगम अब ऐसे घरों पर सख्ती बरतेगा वह ऐसे घर मालिक से धनराशि शुल्क के रूप में वसूलेगा

 

नगर निगम के होर्डिंग शाखा प्रभारी रेहान अहमद से जब बातचीत की तो उन्होंने बताया शहर के होर्डिंग को व्यवस्थित करने की योजना पूर्ण रूप से तैयारी हो रही है। मेन रोड प्रधान मार्ग तथा चौक चौराहों पर होर्डिंग लगाने के लिए रेट निर्धारित कर लिए गए हैं। कहां पर कितनी होर्डिंग लगेंगे इसके लिए सर्वेक्षण करा जाएगा और स्थल को चयनित किया जाएगा,सर्वेक्षण करा जाएगा और स्थल को चयनित किया जाएगा।

 

अवैध होर्डिंग हटाए जाने की व्यवस्था

 

 

बिना परमिशन के अवैध तरीके से लगाए गए होर्डिंग हटा दिए जाएंगे। क्योंकि वर्तमान समय में 20 होर्डिंग एजेंसी पर अभी निगम के तकरीबन 45 लाख रुपए बकाया है। फरवरी की 10 तारीख तक ये बकाया धनराशि भुगतान नहीं करने वाली एजेंसी की होर्डिंग हटा दी जाएंगी ये फरवरी की 20 तारीख से अवैध होर्डिंग को हटाये जाने का कार्य प्रारंभ होगा। इसके साथ ही एजेंसी को निगम से परमिशन लेकर होर्डिंग लगाना पड़ेगी। और ये नियम न मानने वाली एजेंसी के बैनर तथा आदि को हटा दिया जाएगा और जो इन बैनर को हटाने में खर्च आएगा वह भी वसूल लिया जाएगा।

 

मनमाने तरीके से लगा हुआ हटेगा यूनीपोल

कुछ दिन पूर्व बिहार की राजधानी पटना की एजेंसी को यूनीपोल लगाने की परमिशन दी गई थी। परंतु यह यूनीपोल अपनी मर्जी से सड़क के किनारे लगा दिया गया शहर की रोड के किनारे पोल लगने के कारण यातायात व्यवस्था भी प्रभावित हुई और निगम ने एजेंसी से यूनीपोल की कितनी संख्या है, इसकी रिपोर्ट तकरीबन तीन बार मांगी थी। इसके पश्चात भी रिपोर्ट नहीं दी एजेंसी को अब फरवरी की 10 तारीख तक पोल की संख्या दे दी जाए, निर्देश दिए गए हैं फिर भी इस आदेश को ना माना तो यूनीपोल हटा दिया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.