शुक्रवार, दिसम्बर 3

Blog

बिहार में भी लाखों कार, बाईक को सड़क से हटाया जाएगा, दिल्ली में स्क्रैप नीति पर काम शुरू
Bihar

बिहार में भी लाखों कार, बाईक को सड़क से हटाया जाएगा, दिल्ली में स्क्रैप नीति पर काम शुरू

बिहार की राजधानी पटना जो की प्रदूषण के मामले में महानगरों को भी पछाड़ता देखा जा रहा है। वजह है वाहनो का बोझ और वैसे वाहन जो 20 वर्ष से भी पुराने है ऐसे वाहन अत्यधिक प्रदूषण फैलते है। दिल्ली शहर की बात करें तो वह वाहनो का बोझ कम होने का वजह वहाँ का बेहतर रोड कॉनेटिविटी, दिल्ली मेट्रो से लोगों का सफ़र तथा साइकिल का भी इस्तेमाल किया जाता है।     पटना में वाहनो के अलावा कोई साधन नहीं है जो प्रदूषण की दर को घाटा सके। केंद्र सरकार की नई नीति स्क्रैप नीति जो की दिल्ली में लागू हो चुकी है। इस नीति के तहत 20 साल से अधिक पुराने निजी वाहन और 15 साल से अधिक व्यावसायिक वाहनो को ज़ब्त किया जा रहा है। अबतक कई गाड़ियों को सीज किया जा चुका है। बिहार सरकार भी जल्द ही स्क्रैप नीति को लागू करने पर विचार कर रहा है।     अपने राज्य में यह नीति जैसे हाई लागू होगा तो 10 लाख से...
बिहार के इन पाँच ज़िलों को बड़ा तोहफ़ा, नई रेललाइन के लिए मिली मंज़ूरी, यात्रा होगा सुलभ
Bihar

बिहार के इन पाँच ज़िलों को बड़ा तोहफ़ा, नई रेललाइन के लिए मिली मंज़ूरी, यात्रा होगा सुलभ

बिहार के रेलयात्रियो का बहुत ही पुराना सपना साकार होने वाला है, क्योंकि वर्षों से लम्बित बिहार में नई रेललाइन के लिए रेलवे ने दिलचस्पी दिखाई है। इतना ही नहीं बल्कि पूर्व मध्य रेलवे के निर्माण विभाग ने तैयारी भी शुरू कर दी है। सर्वे का काम शुरू होने को है। दरसल हम बात कर रहे है बिहार के मोतीपुर-साहेबगंज-राजापट्टी और चकिया-केसरिया नई रेल लाइन की,   इस नई रेललाइन के निर्माण हो जाने से बिहार के मुज़फ़्फ़रपुर के पश्चिमी क्षेत्र के साथ साथ पूर्वी चंपारण और गोपालगंज ज़िले के क़रीब 20 लाख आबादी को बड़ी राहत मिलेगी। थावे मंदिर आने वाले पर्यटकों के संख्या में भी इज़ाफ़ा होगा, साथ साथ व्यावसायिक गतिविधियाँ बढ़ेगी। जिससे लोगों का विकास होगा।   इस नए रेलखंड से तीन ज़िले के लोगों को बड़ा फ़ायदा मिलने वाला है। क्योंकि 36 KM लंबी मोतीपुर-राजापट्टी वाया साहेबगंज एवं 25 किमी लंबी चकिया...
बिहार के रेलयात्रियो के लिए जल्द शुरू होगा शानदार टनल, डबल हुआ 276 KM लम्बा ट्रैक
Bihar

बिहार के रेलयात्रियो के लिए जल्द शुरू होगा शानदार टनल, डबल हुआ 276 KM लम्बा ट्रैक

बिहार के रेलयात्रियो के लिए अच्छी खबर, बिहार में ट्रेन के रास्ते सुरंग से गुजरना बहुत की खूबसूरत एहसास दिलाता है इसका उदाहरण फ़िलहाल बिहार में एक मात्र जगह जमालपुर में देखने को मिलता है। अंग्रेजो द्वारा विकसित वह सुरंग जिसके रास्ते सिर्फ़ एक वक्त में एक ही ट्रेन गुजर पाती है, ऐसे में दूसरे ट्रेन को गुजरने के लिए आऊटर सिग्नल पर इंतज़ार करना पड़ता है। ऐसे में यात्रा में लगने वाले समय में भी इज़ाफ़ा हो जाता है।     अब इस संकट से सभी को जल्द ही छुटकारा मिलने वाला है। क्योंकि उसी सुरंग के समानांतर रेलवे ने एक और शानदार सुरंग तैयार कर दिया है, फ़र्श के ढलाई का काम पहले हाई पूरा हो चुका है। अब पटरी बिछाने का काम भी शुरू होने वाला है। आपको बता दें की यह नया सुरंग पुराने सुरंग से बिलकुल अलग और बेहतर है क्योंकि नए सुरंग में ट्रेन के साथ साथ पैदल चलने वाले यात्रीयो के लिए भी जगह रख...
बिहाए के इन ज़िलों से गुजरेगी बुलेट ट्रेन, साकार होगा हाई स्पीड रेल का सपना
Bihar

बिहाए के इन ज़िलों से गुजरेगी बुलेट ट्रेन, साकार होगा हाई स्पीड रेल का सपना

बिहारवासियो का बुलेट ट्रेन का सपना जल्द साकार होने वाला है। इसके लिए क़वायद शुरू हो चुकी है। सर्वे का काम भी शुरू हो चुका है। बुलेट ट्रेन के रूट का सर्वे झारखंड के गिरीडीह ज़िले से शुरू हुआ है। जानकारी के लिए आपको बता दें की बुलेट ट्रेन झारखंड से बिहार होते हुए वाराणसी दिल्ली तक ले जाने का प्लान है, जिसकी लम्बाई लगभग 760 KM लम्बी है।   रूट मैप की बात करे तो बुलेट ट्रेन बिहार के पटना, झारखंड के धनबाद और बंगाल के बर्दवान से होते हुए गुजरने वाली है। ज्ञात हो की पहले हाई दिल्ली से हावड़ा रूट पर हाई स्पीड रेल नेटवर्क पर तेज़ी से कार्य किया जा रहा है। इस शानदार प्रोजेक्ट के पूरा होने से दिल्ली से हावड़ा महज़ चंद घंटे में पूरा हो सकेगा। इससे बिहार के रेलयात्रियो को एक और सबसे तेज और शानदार विकल्प मिलने वाला है।   वाराणसी से हावड़ा के लिए तैयार हो रहे इस शानदार प्रोजेक्ट में ...
बिहार को दो शानदार हाइड्रोप्रोजेक्ट को मिली मंज़ूरी, रोज़गार के साथ साथ ख़त्म होगा बिजली संकट
Bihar

बिहार को दो शानदार हाइड्रोप्रोजेक्ट को मिली मंज़ूरी, रोज़गार के साथ साथ ख़त्म होगा बिजली संकट

बिहार में इन दिनो बिजली संकट कई ज़िलों में गहराता जा रहा है। वजह जो भी हो इस समस्या से सिर्फ़ बिहार हाई नहीं बल्कि कई राज्य परेशान हैं। लेकिन इस बड़ी समस्या से निजात पाने के लिए बिहार हाइड्रो प्रोजेक्ट लगाने की तैयारी शुरू की जा रही हैं। मिली जानकारी के अनुसार यह परियोजना नेपाल के कोसी क्षेत्र में लगाई जाएगी।   आपको बता दें की की इस परियोजना में दो हाइड्रोप्रोजेक्ट का निर्माण होना है, जिसके पूरे होने से बिहार को बिजली समस्या से छुटकारा तो मिलेगा हाई साथ साथ दूसरे राज्यों को भी बिजली भेजा जा सकेगा। सरकार की ओर से दो मेगा हाइड्रो प्रोजेक्ट की मंज़ूरी मिल चुकी है। ये दोनो प्रोजेक्ट पनबिजली परियोजना सतलुज जल विद्युत निगम लिमिटेड के माध्यम से लगाया जाएगा।   इस प्रोजेक्ट की स्वीकृति एसजेवीएस ने दी है। पहले प्रोजेक्ट से लगभग 900 मेगावाट बिजली के उत्पादन का लक्ष्य रखा गया है।...
बिहारवासियो के लिए 1600 करोड़ के योजना को मंज़ूरी, रोज़गार और बिहार से बंगाल पहुँचना आसान
Bihar

बिहारवासियो के लिए 1600 करोड़ के योजना को मंज़ूरी, रोज़गार और बिहार से बंगाल पहुँचना आसान

बिहार के आम लोगों की फ़िलहाल सबसे बड़ी समस्या रोज़गार है, जिसके लिए राज्य सरकार लगातार कार्य कर रही है। इसी बीच खबर मिली है की बिहार को सबसे बड़े औधोगिक पार्क की बड़ी ख़ुशख़बरी मिलने वाली है। मिली जानकारी के अनुसार इस शानदार औधोगिक पर को 1600 एकड़ ने विकसित किया जाएगा। जिसकी प्रक्रिया शुरू भी की जा चुकी है।   ज्ञात हो की अमृतसर से कोलकाता तक जाने वाली दिल्ली-अमृतसर-कोलकाता औधोगिक कॉरिडोर को विकसित किया जा रहा है। इस कोरिडोर का बिहार राज्य से गुजरने वाला है, बिहार के गया ज़िले से गुजरने के वजह से राज्य सरकार ने यह निर्णय लिया है की यहाँ पर औधोगिक पार्क की स्थापना की जाए। इस योजना के ज़मीन अधिग्रहण का कार्य शुरू किया जा चुका है।   आपको बता दें की इस शानदार औधोगिक पार्क होने वाले खर्च का 50 प्रतिशत रक़म राज्य सरकार तथा 50 प्रतिशत रक़म केंद्र सरकार वहन करेगा। कोलकाता तक ज...
बिहारवासियो के लिए सोन नदी पर शानदार ब्रिज के लिए मंज़ूरी, 200 करोड़ का टेंडर जारी
Bihar

बिहारवासियो के लिए सोन नदी पर शानदार ब्रिज के लिए मंज़ूरी, 200 करोड़ का टेंडर जारी

बिहारवासियो के लिए अच्छी खबर यह है की बिहार से झारखंड जाने वाले यात्रीयो के लिए राज्य सरकार ने एक शानदार विकल्प निकाला है। राज्य सरकार की ओर से सोन नदी पर एक शानदार ब्रिज के लिए टेंडर जारी कर दिया गया है। इस ब्रिज के बन जाने से बिहार से झारखंड जाना अत्यंत आसान हो जाएगा, और सड़क के माध्यम से यात्रा करने वाले यात्रीयो की दूरी भी घट जाएगी।   अब तक मिली जानकारी के अनुसार यह ब्रिज सोन नदी पर बनाया जाएगा, गढ़वा के श्रीनगर और रोहतास के नौहट्टा को जोड़ने वाला यह शानदार ब्रिज अगले दो वर्षों में बनकर तैयार हो जाएगा, सरकार के ओर से इसके लिए दो साल का समय निर्धारित किया गया है। बता दें की पहले हाई केंद्रीय परिवहन मंत्रालय ने इस योजना को मंज़ूरी दे दी थी, और अब इसके निर्माण के लिए टेंडर भी निकाल दिया गया है।   इस नए ब्रिज के लिए राज्य सरकार ने 200 करोड़ रुपए का टेंडर जारी किया है।...
बिहार के रेलयात्रियो को बड़ा तोहफ़ा इन रुटो पर दौड़ेगी सोलर ट्रेन, रेलवे ने शुरू की तैयारी
Bihar

बिहार के रेलयात्रियो को बड़ा तोहफ़ा इन रुटो पर दौड़ेगी सोलर ट्रेन, रेलवे ने शुरू की तैयारी

बिहार के रेलयात्रियो के नया विकल्प के रूप में एक और शानदार फ़ैसला लिया गया है। पहले हाई बिहार के रेलवे स्टेशनो को वर्ल्ड क्लास बनाने पर भरपूर ज़ोर दिया जा रहा है। इसी बीच रेलवे ने सौर ऊर्जा से चलने वाली ट्रेनो के परिचालन करने की तैयारी में लग गया है। इस योजना की अधिकारिक घोषणा कर दी गई है। जिससे रेलयात्रियो में ख़ुशी का माहौल है।   जानकारी के लिए आपको बता दें की सबसे पहले सौर ऊर्जा से हावड़ा से बिहार होते हुए नई दिल्ली रूट पर ट्रेन का परिचालन शुरू किया जाएगा। इस योजना के ज़मीन चिन्हित करने की तैयारी शुरू कर दी गई है। बताया जा रहा है की रेलवे ट्रैक के किनारे पड़े ख़ाली ज़मीनो में रेलवे सौर ऊर्जा के लिए सोलर प्लांट स्थापित करेगा। यह पूरा कार्य निजी कंपनी द्वारा कराई जाएगी।   हर सोलर प्लांट से प्रतिदिन लगभग 100 मेगावाट बिजली का उत्पादन करके बिजली सीधा ग्रीड में पहुँचायेग...
बिहार के रेलयात्रियो के लिए बड़ा सौग़ात, रेलवे ने कोरोनाकाल में बढ़ाए क़ीमत को वापस घटाया
Bihar

बिहार के रेलयात्रियो के लिए बड़ा सौग़ात, रेलवे ने कोरोनाकाल में बढ़ाए क़ीमत को वापस घटाया

बिहार के रेलयात्रियो को बड़ी राहत देते हुए दानपुर मंडल ने बड़ी घोषणा की है। इस फ़ैसले से यात्रीयो को बड़ी राहत मिली है, ख़ासकर वैसे लोग जिनके परिजन उनको स्टेशन छोड़ने अथवा अपने सम्बन्धी को ट्रेन तक छोड़ने आते है। कोरोनाकाल में रेलवे द्वारा प्लेटफ़ोर्म टिकट का क़ीमत बढ़कर 50 रुपए कर दिए गए थे, जिसमें बड़ी राहत देते हुए रेलवे ने यात्रीयो की मुसकिले आसान कर दी है।   प्लेटफ़ोर्म टिकट का क़ीमत 50 रुपए करने के पीछे रेलवे का मक़सद सिर्फ़ प्लेटफ़ोर्म के भीड़ को कम करना था जिससे कोरोनावायरस का संक्रमण ना बढ़े। लेकिन अब स्थिति लगभग सामान्य होते हाई रेलवे ने वापस प्लेटफ़ोर्म टिकट का क़ीमत 10 रुपए कर दिया है। रेलवे के इस फ़ैसले से सभी रेलयात्रीयो में ख़ुशी की लहर है। रेकर्ड के हिसाब से प्रतिदिन 800 से 1000 प्लेटफ़ोर्म टिकट बिकते थे।   यह रेकर्ड पटना जंक्शन का है यहाँ 50 रुपए के ह...
बिहार के सभी प्राईवेट स्कूलों के लिए नई व्यवस्था, अब इस नई नीति से होगी शिक्षकों की बहाली
Bihar

बिहार के सभी प्राईवेट स्कूलों के लिए नई व्यवस्था, अब इस नई नीति से होगी शिक्षकों की बहाली

बिहार के सभी प्राईवेट स्कूलों में बड़ा बदलाव किया गया है। आपको बता दें की अब निजी यानी प्राईवेट स्कूलों में पढ़ाना आसान नहीं होगा क्योंकि राज्य सरकार ने नियमो में बड़ा बदलाव किया है। अब निजी स्कूलों में शिक्षक बनने के लिए शिक्षक पात्रता परीक्षा यानी टीईटी अनिवार्य कर दिया गया है। अब टीईटी परीक्षा के अंको के साथ साक्षात्कर की व्यवस्था लागू होगी।   अब इस नई व्यवस्था से ही निजी स्कूल शिक्षकों का चयन कर सकेंगे। केंद्र सरकार ने राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 में यह प्रावधान किया है, जिसे बिहार में भी लागू करने की तैयारी की जा रही है। शिक्षा विभाग ने इस नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति को लागू करने के लिए  निर्देश जारी किया है जिसपर कार्य करते हुए बीईपी ने एक रोडमैप बनाया है।     बिहार राज्य में नई शिक्षा नीति के लागू होते ही परीक्षा प्रणाली में भी बदलाव हो जाएगा यह पहले से लची...