बिहार में सबसे अधिक दिनो से लम्बित भागलपुर मिर्जाचौकी फ़ोरलेन 

बिहार राज्य में दर्जनों ऐसे प्रोजेक्ट हैं जोकि मुआवजा सही समय पर तथा उचित मुआवजा नहीं मिलने के वजह से लंबित है। पहले स्थान पर भागलपुर से मिर्जाचौकी फोरलेन सड़क जिस पर आए दिन हर रोज मुआवजे के झंझट के वजह से ग्रामीणों द्वारा काम रोक दिया जाता है। तथा उचित मुआवजा एवं सड़क निर्माण विभाग द्वारा तय भूमि से अधिक अधिग्रहण का मामला सामने आ जाता है।

 

ये है मुख्य समस्या 

अब उचित मुआवजा ना मिलने वाले जमीन मालिकों के लिए राहत भरी खबर सामने आ रही है, बिहार के राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग के अपर मुख्य सचिव ने बिहार में चल रहे हैं इन प्रोजेक्ट के मुआवजे को जल्द से जल्द भुगतान का आदेश दिया है साथ-साथ भू अर्जन एवं भुगतान का डाटा नहीं देने वाले अधिकारियों को भी जमकर फटकार लगाई है।

 

इन प्राजेक्ट्स पर प्रार्थमिकता 

बिहार में चल रहे हाजीपुर सुगौली नई रेल लाइन छपरा मुजफ्फरपुर बड़ी रेल लाइन अमृतसर कोलकाता इंडस्ट्रियल कॉरिडोर और बाढ़ बख्तियारपुर थर्ड लाइन इन प्रोजेक्ट के अलावा भारत नेपाल सीमा परियोजना पटना मेट्रो रेल डिपो का निर्माण थर्मल पावर प्रोजेक्ट तथा कई जिलों में सशस्त्र सीमा सुरक्षा बल के लिए भूमि का अधिग्रहण इन प्रोजेक्ट के लिए हुए भूमि अधिग्रहण का मामला प्राथमिकता तौर पर निपटाने का आदेश दिया गया है।

 

विभाग द्वारा जारी हुआ यह आदेश 

अपर मुख्य सचिव द्वारा यह चेतावनी दी गई है कि सिर्फ आंकड़ों का खेल ना खेलें ऐसा काम करें कि रैयत के साथ-साथ गई भूमि अधिग्रहण करने वाला विभाग भी झंझटो के मुक्त हो। साथ साथ भू अर्जन एवं भुगतान विभाग यह गारंटी ले की प्रोजेक्ट के लिए अर्जित जमीन पर विभाग का कब्जा भी सफलतापूर्वक हो सके। इस बैठक में है बिहार के सभी 38 जिलों के भू अर्जन पदाधिकारी तथा भू अर्जन के निदेशक सुशील कुमार शामिल हुए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *