आत्मनिर्भर बिहार के निश्चय पर टू योजना के तहत बिहार सरकार के स्वास्थ्य विभाग द्वारा बेहतर स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराने के लिए कई एप्लीकेशन को स्वास्थ्य विभाग से जोड़ा जा रहा है। जिनमें ईसंजीवनी, अश्विन, 102 एंबुलेंस ट्रैकिंग सिस्टम और वंडर एप शामिल है । इसका शुभारंभ बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आज दोपहर किया है। पढ़े इन ऐप्लिकेशनो के ज़रिए आपको मिलने वाली सभी सुविधाओं की पूरी जानकारी ।

ई-संजीवनी

बिहार में ई-संजीवनी की व्यवस्था के तहत बिहार के 1723 स्वास्थ्य केंद्रों पर मरीजों को इसकी सुविधा दी जाएगी। इस व्यवस्था के तहत हर सप्ताह में3 दिन प्रातः 9:00 बजे से दोपहर 2:00 बजे तक मरीजों को ऑनलाइन सलाह/इलाज किया जाएगा। इसके तहत मरीजों का इलाज ऑनलाइन वीडियोकॉन्फ्रेंसिंग के जरिए किया जाएगा। जिससे मरीजों के पैसे और समय दोनों की बचत होगी।

 

102 एंबुलेंस ट्रैकिंग सिस्टम

102 एंबुलेंस ट्रैकिंग सिस्टम के तहत एंबुलेंस की ट्रेकिंग की जाएगी। जिसमें इस एप्लीकेशन के द्वारा अधिकारी हो या आम जनता 102 एंबुलेंस को अपने मोबाइल पर आसानी से ट्रैक करके लाइव लोकेशन की जानकारी ले सकते हैं। इस सुविधा के उपलब्ध होने से किसी को एंबुलेंस के लिए बार-बार कॉल करने की आवश्यकता नहीं होगी बल्कि अपने मोबाइल पर एंबुलेंस का लाइव लोकेशन तुरंत देखी जा सकती है।

 

 

वंडर एप

वंडर ऐप ऐसा एप्लीकेशन है जिससे बिहार में मौजूद कहीं से भी इसे एक्सेस किया जा सकता है। यह एप्लीकेशन मोबाइल में आसानी से डाउनलोड करके गर्भवती महिलाओं के लिए महत्वपूर्ण सलाह और सभी प्रकार के दवाइयों की जानकारी ली जा सकेगी। इस ऐप में गर्भधारण से लेकर प्रसव तक के सभी जरूरी जांचवंडर वेब पोर्टल पर डाला जाएगा तथा इससे जरूरी सलाह भी आम जनता ले सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.