बिहार सरकार ने महिला की सुरक्षा पर दिया खास जोर ,

 

 

बिहार,( कुलसूम फात्मा )  अब थाने में महिला हेल्प डेस्क के द्वारा महिलाओं की शिकायत सुनने से लेकर उनकी काउंसलिंग करने तक की व्यवस्था की जा रही है। हेल्प डेस्क पर महिला पुलिसकर्मी को तैनात किया जाएगा। वह सिर्फ एफ आई आर दर्ज नहीं करेंगी बल्कि उनकी सहायता भी करेंगी। शिकायतों से जुड़ी संस्थाओं तथा सरकारी सुविधाओं की भी जानकारी महिलाओं को देंगी। इसके संबंध में अपराध अनुसंधान विभाग ने सभी जिलों के एसपी को निर्देश जारी कर दिए हैं।

 

 

 

जी हां, बिहार के सभी थानों में अब महिला हेल्प डेस्क बहुत जल्द बंद कर तैयार हो जाएगा विनय कुमार जोकि सीआईडी के एडीजी हैं। उनसे जब बातचीत की तो उन्होंने बताया कि प्रत्येक थाने में महिला डिस्क के लिए कम से कम एक महिला कॉन्स्टेबल को खास तैनात किया जाएगा और बड़े थानों में जहां पर महिलाओं से जुड़ी हुई शिकायतें ज्यादा आती हैं वहां पर भिन्न-भिन्न समय को बांटते हुए महिला पुलिसकर्मी की ड्यूटी लगाई जाएगी।

 

 

 

इसके साथ ही सभी एसपी को अपने बल से ही जनपद के हर थाने में महिला हेल्प डेस्क प्रारंभ करने को कह दिया गया है और जहां पर महिला पुलिस कर्मियों की कमी होगी, वहां के लिए आवश्यकता के हिसाब से अलग से महिला कॉन्स्टेबल को भेजा जाएगा।  और महिला हेल्प डेस्क के लिए वह पुलिसकर्मी जो कि महिला है, उनको हास ट्रेनिंग दी जाएगी। उन्हें महिलाओं से संबंधित कानून तथा अधिकारों की पूरी जानकारी दी जाएगी जिससे कि वह अन्य महिलाओं को उनके अधिकार बता सके और अच्छे तरीके से उनकी काउंसलिंग कर सके। महिलाओं को यह भी बताया जाएगा कि उनकी शिकायत के लिए महिला थाना तथा महिला आयोग और महिला हेल्पलाइन सेंटर जैसे केंद्र को उनके लिए उपलब्ध कराया गया है।

 

बिहार सरकार की महिला की सुरक्षा पर खास जोर दिया जा रहा है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पिछले दिनों पुलिस मुख्यालय में इससे संबंधित दिशा निर्देश भी दिए थे। इसके साथ ही सभी थानों को अधिक से अधिक और जल्द से जल्द महिला हेल्प डेस्क को गठित किया जाए और इसका प्रारंभ जल्द हो निर्देश दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.