गोरखपुर,( कुलसूम फात्मा )   गोरखपुर से चोरी चोरा शताब्दी वर्ष के इस नए मौके पर फरवरी की 4 तारीख को नए कलेवर के रूप में दिखेंगी तथा इसमें 24 कोच के लिंक हाफमैन वाली रेट लगा कर रवाना किया जाएगा कोच के लगने से ट्रेन के रंग में परिवर्तन आ गया है तथा कोच के अंदर का भी माहौल बदल गया है। नजारा देखने वाला है। सीटें काफी आरामदायक होंगी और टॉयलेट भी अत्याधुनिक होंगे। बुधवार के दिन कोच की सफाई तथा मरम्मत कार्य प्रारंभ हो गया है। यह ट्रेन रात के समय जब चोरी चोरा स्टेशन पर रुकेगी तो इसका वेलकम किया जाएगा।

 

चोरी चोरा एक्सप्रेस में यह है व्यवस्था

 

 

बता दें के गोरखपुर से कानपुर तथा अनवरगंज तक जाने वाली चोरी चोरा एक्सप्रेस ट्रेन नंबर 15003/15004 वर्तमान समय में स्पेशल के रूप में चलाई जा रही है। ट्रेन नंबर 05003,05004 ट्रेन में रिजर्व कैटेगरी की 2 कोच और बढ़ जाएंगी तथा 20 के स्थान पर कुल मिलाकर 22 कोच इस ट्रेन में लगाकर चलाई जाएगी। इससे सीटोें में भी बढ़ोतरी होगी जिससे यात्रियों को सहूलियत मिलेगी।

 

 

31 स्टेशनों पर रूकती है ट्रेन

चोरी चोरा एक्सप्रेस टोटल मिलाकर 552 किमी की यात्रा करती आई है और यह ट्रेन गोरखपुर से कानपुर तथा अनवरगंज के मध्य टोटल 31 स्टेशनों पर रूकती है। इसकी ज्यादातर स्पीड 110 किमी प्रति घंटा है तथा स्टॉपेज के सम्बन्ध में 40.27 किमी प्रति घंटे की स्पीड से यह ट्रेन चलती है।

 

 

ये हैं एलएचबी कोच की खासियत

बता दें के, दुर्घटना के नजरिए से यदि देखा जाए तो यह काफी सुरक्षित होती है

और इसमे काफी संख्या तथा अच्छी क्वालिटी के स्प्रिंग और शाकर लगे हुए हैं जिससे कि जरा सा भी झटका महसूस नहीं होता है

और सामान्य कोच की मुकाबले में ये बहुत वातानुकूलन ज्यादा अच्छी होती है।

कोच की बाहर की बॉडी स्टील तथा अंदर की एलमुनियम की बनी है।

यह ट्रेन आग से भी पूरी तरीके से सुरक्षित होती है।

सामान्य कोच से 2 मीटर लंबे होते हैं इसके कोच
और स्लीपर में 72 के स्थान पर 80 सीट होती हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.