भागलपुर,( कुलसूम फात्मा )  बच्चों का सहारा पूरी तरीके से यूँ मां-बाप ही होते हैं, लेकिन अगर दोनों में से एक की मौत हो जाती है तो बच्चे टूट जाते हैं और मां या बाप में से एक को ये जिम्मेदारी सिर्फ समभालनी पड़े तो काफी परेशानी झेलनी पड़ती है। परंतु यहा पर इन बच्चों का कोई नहीं है। मां ने ट्रक हादसे से में दम तोड़ दिया और पिता भी गंभीर हालत में है जो मायागंज अस्पताल में एडमिट है। अब सवाल यह उठता है की ऐसे बच्चों की कौन देखभाल करेगा ये प्रश्न अकबर नगर में रहने वाली जनता का है।

 

 

 

असल में सोमवार को एक सड़क हादसा हुआ जिसमें मां ने तुरंत ही दम तोड़ दिया और पिता अभी हॉस्पिटल में मौत और जिंदगी से जूझ रहे है नूतन का ब्याह पास के ही नाथनगर थाना क्षेत्र के दोगची गांव में 2012 में हुआ और मृतक महिला के वर्तमान समय में तीन संतान हैं। जिसमें एक लड़की 6 साल की दिव्या तथा तकरीबन 4 साल का एक लड़का है जिसका नाम अछ और 3 साल का एक पुत्र आकाश है यह तीनों ही बच्चे अभी छोटे हैं और इनको माता-पिता की जरूरत है जो इनकी देखभाल करें। उनके होने वाली इस तकलीफ को समझ सके।

 

 

 

बता दें नूतन के पति चंद्रशेखर राजगीर में एमएमपी के पोस्ट पर कार्यरत हैं। कुछ दिन पूर्व यह छुट्टी में गांव आए थे ये लोग बच्चों को उनके नाना के घर ले जा रहे थे और बीच में ही ये हादसा हो गया

जिसमे नूतन की मौत हो गई –  इस मौत से परिवारजन के साथ गाँव वाले तक सदमे में है। शव से लिपटकर उसकी माता तथा पिता और भाई के साथ बाकी परिवार के लोग जोर जोर से रो रहे थे। असल में तीन भाइयों में नूतन अकेली बहन थी जिसकी वर्तमान समय में मृत्यु हो चुकी है भाई कैलाश ने बताया कुछ ही दिनों पहले बेटी का स्कूल में ऐडमिशन काराने वाले थे ये लोग।

 

हादसा भवनाथपुर गांव के समीप का है। वहां पर ट्रक ने बाइक सवार को पूरी तरीके से कुचल दिया जिसमें से अभी पति बचा हुआ है और पत्नी की मृत्यु हो गई है। और पति को पुलिस ने मायागंज अस्पताल में भर्ती करा दिया है।  इस घटना से उग्र स्वजन के साथ ग्रामीणों ने मुआवजे की मांग की है। इससे संबंधित भागलपुर सुल्तानगंज मुख्य मार्ग को जाम कर दिया है। पुलिस ने धक्का मार कर भाग रहे ट्रक चालक को अभी पकड़ लिया है। मृतका के पति चंद्रशेखर यादव एमएमपी अभी जवान है।

 

 

जब यह घटना हुई तो सूचना शाहकुंड बाथ,नाथनगर, अकबरनगर तथा सुल्तानगंज थाने से कई पुलिस पदाधिकारी दल बल के साथ मौके पर पहुंच गए। इसके साथ ही नाथनगर तथा सुल्तानगंज सीओ भी मौके पर पहुंचे। 4 घंटे की मशक्कत के पश्चात ग्रामीणों को मनाया तब जाकर यातायात व्यवस्था सामान्य हो पाई। सीओ शुभ चरण राय ने पीड़ित परिवार को आपदा के जरिए ₹400000 रू देने को कहा अभी इस मध्य जाम लगने के वजह से 8 किलोमीटर तक वाहनों की लंबी लाइन लगी हुई है। जाम में इंटर के परीक्षार्थी और 3 एंबुलेंस घंटों तक जाम में फंसी रहीे। बता दें सर्किल इंस्पेक्टर रतनलाल ठाकुर तथा अकबरनगर थाना प्रभारी शंभू कुमार जाम हटाने में जुटे थे। नाथनगर इंस्पेक्टर सज्जाद हुसैन भी वहां पर पहुंचे। जाम की वजह से सभी अधिकारियों को घटना स्थल तक पैदल ही जाना पड़ा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.