#

बिहार सरकार द्वारा बिहार वासियों के हित में कई नई योजनाओं पर काम किया गया है एवं वर्तमान में भी कई योजनाओं पर काम किया जा रहा है। बिहार को एक विकसित शहर का रूप प्रदान करने के लिए बिहार सरकार अपनी तरफ से हर संभव प्रयास कर रही हैं । इसी कड़ी में एक नई योजना सामने आ रही है जिसके तहत अन्य राज्यों के लिए नई सरकारी बसों की सुविधा शुरू करने की तैयारी की जा रही है।

 

विस्तार पूर्वक बताएं तो खबर के अनुसार बिहार राज्य पथ परिवहन निगम की ओर से जल्द ही बिहार वासियों को एक खुशखबरी मिलने वाली है। बात दरअसल दूसरे राज्यों के लिए सरकारी बस सेवाएं शुरू होने के बारे में है, बताया जा रहा है कि इस योजना के पूरे होने के बाद बिहार से कई अन्य राज्यों के लिए बस सुविधा शुरू हो जाएंगी । जिन राज्यों के लिए सेवाएं शुरू की जाएंगी उनमें, कोसी, सीमांचल, उत्तरी बिहार, मिथिलांचल एवं झारखंड के नाम शामिल हैं। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि यह सभी बसें सीएनजी एवं डीजल से संचालित की जाएंगी, सभी नए बसों के परिचालन हेतु प्रस्ताव को जल्द ही स्वीकृति मिलने की उम्मीद है । अधिकारियों की मानें तो राज्य में आने वाली 70 नई बसों में से 10 से 12 बसें मुंगेर प्रतिष्ठान को दी जा सकती हैं।

 

# किन रूटों पर चलेंगी कितनी बसें____

* -02 बस पूर्णिया के लिए अलग-अलग रूट से
* -01 बस जयनगर के लिए बेगसूराय-दरभंगा होकर
* -01 बस रोसड़ा के लिए बेगूसराय-समस्तीपुर होकर
* -01 बस मुंगेर से बिहारीगंज के लिए खगडिय़ा होकर
* -01 बस मुंगेर से सीधा बिहारशरीफ के लिए चलेगी
* -01 बस मुंगेर से नवादा-पटना के लिए प्रस्तावित है
* -01 बस मुंगेर से रांची बरियापुर-सुल्नागंज
* -01 बस मुंगेर से दुमका के लिए बांका होकर
* -01 बस मुंगेर से देवघर तारापुर-संग्रामपुर होकर
* -01 बस मुंगेर से बोकारो बरियापुर-सुल्तानगंज
* -01 बस मुंगेर से रक्सौल बेगसूराय-मुजफ्फरपुर
* -52 सीट वाली सेमी डिलक्स बसें मिलेंगी प्रतिष्ठान को

 

सुनने में आ रहा है कि श्री कृष्ण सेतु के निर्माण के बाद कोसी सीमांचल, उत्तरी बिहार और मिथिलांचल के कई जिलों के बीच की दूरियां इस सेतू के कारण काफी कम हो चुकी है। बताया जा रहा है जून में इस सेतु पर बड़े वाहनों के परिचालन की शुरुआत के बाद से ही यह अनुमान लगाया जा रहा था कि शायद जल्द ही इसी सेतु से होकर अन्य जिलों के लिए बसों का परिचालन भी शुरू हो सकता है।

 

अब खबर आ रही है कि मुंगेर प्रतिष्ठान द्वारा बसों के परिचालन के लिए रूट भी निर्धारित किए जा चुके हैं। अगर बात करें बसों के परिचालन से होने वाले फायदों की तो आपको बता दें कि जहां एक तरफ बसों के परिचालन से लोगों को काफी सहूलियत मिलेगी, वहीं दूसरी तरफ ट्रेनों में होने वाले भीड़भाड़ से भी छुटकारा मिलेगा । सीएनजी से परिचालन होने के कारण प्रदूषण कम होगा एवं वायु प्रदूषण में भी कमी आएगी ।

 

# पूर्णिया के लिए किन रूटो से चलेंगी बसें____

मुंगेर से पूर्णिया के लिए दो रूटों से बसों के परिचालन का चार्ट तैयार किया गया है। एक बस बरियारपु-सुल्नागंज-भागलपुर होकर चलेगी। दूसरा रूट खगडिय़ा और नवगछिया बनाया गया है। इसी तरह मुंगेर से जयनगर के लिए सीधा बस सेवा शुरू होना है। बेगूसराय-मुसरीघरारी-समस्तीपुर-दरंभगा होकर जयनगर के लिए बस चलेगी।

 

# पूर्वी एवं पश्चिमी चंपारण के लिए बसें___

मुंगेर से रक्सौल के लिए भी सरकारी बस चलाने का प्रस्ताव भेजा गया है। इस बस का रूट मुंगेर-बेगूसराय-मुजफ्फरपुर-मोतीहारी होगा। रोसड़ा के लिए बस का रूट बेगूसराय-समस्तीपुर होगा। मधेपुरा जिले के बिहारीगंज के लिए बस रूट मुंगेर-खगडिय़ा-महेशखुट-बेलदौर-आलमनगर-बिहारीगंज निर्धारित किया गया है। मुंगेर से झारखंड की राजधानी रांची के लिए भी एक बस चलेगी। इसका रूट बरियापुर-सुल्तानगंज होगा। बोकारो के लिए चलने जा रही बस का रूट भी बरियारपुर-सुल्तानगंज होगा। मुंगेर में सीएनजी व्यवस्था के लिए विभाग को पत्र भेजा गया है। जल्द ही इस पर काम शुरू हो जाएगा। बेगूसराय और दूसरे शहरों में सीएनजी रिफिल‍िंग की व्यवस्था है। जल्द ही नई बसें प्रतिष्ठान को मिलेगी।

-संजय कुमार, प्रतिष्ठान अधीक्षक, मुंगेर।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *