वर्तमान समय में बिहार पर्यटकों की पहली पसंद बनता जा रहा है। फिर चाहे वह प्राकृतिक नजारों के दर्शन की बात हो या फिर किसी तीर्थ स्थलों की, पर्यटकों की भीड़ लगातार बढ़ती ही जा रही है। आंकड़ों की मानें तो विगत कुछ वर्षों में विदेशी व देशी पर्यटकों द्वारा सबसे ज्यादा बिहार के स्थलों का भ्रमण किया गया है। हाल ही में हुए पर्यटन विभाग के सर्वे से यह बात सामने आई है कि गोवा के बाद अगर किसी शहर या राज्य का पर्यटकों द्वारा सबसे ज्यादा भ्रमण किया गया है तो वह बिहार है। इसी रिपोर्ट को ध्यान में रखते हुए भवन निर्माण विभाग द्वारा बोधगया में खासतौर से पर्यटको के लिए ज़ी प्लस 7 अतिथि गृह के निर्माण की योजना बनाई जा रही है, जिसके पूर्ण होने का लक्ष्य 2023 तक रखा गया है। बताया जा रहा है कि निर्माण कार्य को आगे बढ़ाने के लिए भवन निर्माण विभाग एवं पर्यटन विभाग द्वारा कार्य स्थल का निरीक्षण किया गया है।

 

# क्या होंगी इस नए अतिथि गृह की विशेषताएं___

अगर बात करें इस अतिथि गृह में मिलने वाली सुविधाओं की तो आपको बता दें कि इस अतिथिगृह को 4 स्टार कैटेगरी में बांटा गया है । इस अतिथिगृह में 100 कमरे मौजूद होंगे एवं यह अत्याधुनिक कोटि का अतिथिगृह बनेगा। इसमें दो प्रेसिडेंसियल स्वीट, आठ वीआइपी स्वीट, 80 डबल बेडरूम एवं 10 सिंगल बेडरूम मौजूद होंगे। इसके अलावे इस अतिथि गृह में 30 बेड का गेस्ट डॉरमेट्री भी शामिल होगा।  इस अतिथि गृह में सभी सुविधायुक्त दो रेस्टोरेंट, एक एक्जीविशन कम बिजिनेस सेंटर का भी निर्माण किया जाएगा। यह पूरा एरिया पूरी तरह से वाइफाइ जोन होगा । जिससे कि लोगों को यहां किसी भी प्रकार की इंटरनेट की असुविधा महसूस नहीं होगी ।

 

इसके अलावा इस अतिथि गृह में देश-विदेश से आने वाले पर्यटकों के लिए स्वीमिंग पूल का भी निर्माण किया जाएगा । केफेटेरिया एवं अन्य सुविधाओं के अलावा पर्यटकों के लिए यहां सभी तरह की ऑनलाइन सुविधाएं होगी, ताकि उनका हर काम अतिथिशाला में ही हो जाये । आपकी जानकारी के लिए बता दें कि बोधगया में बने पर्यटक सूचना केंद्र, जो कि खासतौर से पर्यटकों के लिए बनाए गए हैं, अगले वर्ष जनवरी तक इसे पूरी तरह से अत्याधुनिक सुविधाओं से युक्त कर दिया जाएगा। गौरतलब है कि इस केंद्र से पर्यटकों को सभी तरह की जानकारियां मिल जाती है । जिससे उन्हें बिहार में कहीं भी जाने में किसी प्रकार की कोई परेशानी का सामना नहीं करना पड़ता।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *