Wednesday, January 26

बिहार में बदला वाहन इंश्योरेंस नियम, अब जाँच अभियान में पकड़े जाने पर 2 हज़ार जुर्माना तय

बिहार के सभी वाहन मालिकों के लिए ज़रूरी सूचना, इस सूचना आपके वाहन के इंश्योरेंस को लेकर जारी की गयी है। पुराने रेकर्ड के अनुसार अगर आप एक मोटरसाइकल ख़रीदते थे तो एक वर्ष का इंश्योरेंस मिलता था। अब इसमें बदलाव करते हुए एक साल को बढ़ाकर पाँच साल कर दिया गया है। नए प्लान के तहत वाहन मालिक को एक साल ज़ीरो डेप्थ और शेष चार वर्ष थर्ड पार्टी इंश्योरेंस दिया जाता है।

 

महत्वपूर्ण जानकारी देते हुए आपको बता दें की वैसे वाहन जो एक वर्ष वाले प्लान के दौरान ख़रीदे गए थे, या पुराने वाहन जिनका इंश्योरेंस की अवधि समाप्त हो चुकी है। ऐसे वाहन मालिक अपना इंश्योरेंस जल्द से जल्द करवाये, वरना आपको भारी जुर्माना भरना पड़ सकता है। क्योंकि परिवहन विभाग ने अपने नए अधिसूचना में साफ़ साफ़ कहा है की,

 

यदि आपके वाहन का बीमा या थर्ड पार्टी इंश्योरेंस नहीं है तो, किसी भी प्रकार के दुर्घटना के दौरान आश्रितों को मुआवज़ा वाहन मालिक को ही देना होगा। इंश्योरेंस अगर है तो वह मुआवज़ा परिवहन विभाग उस बीमा कंपनी से वसूलेगा जिससे आपने थर्ड पार्टी इंश्योरेंस कराया है। इस नियम के पालन के लिए विभाग ने सभी ज़िलों के डीएम और डीटीओ को निगरानी के लिए निर्देश भेजा है।

 

अब नए निर्देशो के अनुसार बिहार के सभी ज़िलों में थर्ड पार्टी इंश्योरेंस के जाँच के लिए विशेष अभियान की शुरुआत की जाएगी। इस जाँच अभियान में थर्ड पार्टी इंश्योरेंस नहि पाए जाने पर आप पर 2000 रुपए का जुर्माना तुरंत लगाया जाएगा। परिवहन विभाग अपने रेकर्ड के मुताबिक़ इन वाहन मालिकों के घर पर नोटिस भेजने की तैयारी में जुट गया है।

 

अगर आपके वाहन का थर्ड पार्टी इंश्योरेंस नहीं है और किसी प्रकार की दुर्घटना में अगर आपके वाहन से किसी की मृत्यु होती है तो प्रसाशन आपके वाहन को ज़ब्त कर के नीलाम करेगा एवं नीलामी में मिली राशि दुर्घटना में घायल या मृतक के परिवार वालों को दी जाएगी।

%d bloggers like this: