Wednesday, January 26

बिहार के बाहर रहने वाले नागरिकों को सूचना आपके ज़िलों में शुरू हो रहा ज़मीन सर्वे रहना ज़रूरी

बिहार के पाँच ज़िलों के लोगों के लिए विशेष सूचना:- बिहार के पाँच और ज़िलों में भूमि सर्वेक्षण का कार्य शुरू किया जा रहा है। मिली जानकारी के अनुसार फ़िलहाल बिहार के 20 ज़िलों में पहले ही भूमि सर्वेक्षण का कार्य किया जा रहा है। बिहार के राजस्व एवं भूमि सुधार मंत्री द्वारा मिली जानकारी के और 40 गाँवों में विशेष सर्वेक्षण का कार्य पूरा कर लिया गया है।

विभाग द्वारा आग्रह किया गया है की वैसे लोग जो अपने गाव ज़िले या राज्य से बाहर रह रहे है वे जल्द अपने गाव लौट आए ताकि भूमि सर्वेक्षण के दौरान उनकी उपस्थिति दर्ज हो और ज़मीन मालिक ये देख सके की सर्वेक्षण किए जा रहे ज़मीन के रेकर्ड में ज़मीन का स्वामित्व सही से दर्ज हुआ या नहीं। या फिर अगर किसी भी प्रकार का सुधार करवाना हो तो सर्वेक्षण के दौरान करा सकते है।

सर्वेक्षण के दौरान ज़मीन मालिक के उपस्थिति से ज़मीन मालिक को बाद में अदालत का चक्कर नहीं लगाना होगा। क्योंकि अगर होता है तो समय और पैसे दोनो का नुक़सान ज़मीन मालिक को उठाना पड़ता है। हालाँकि सर्वेक्षण की पूरी प्रक्रिया ऑनलाइन की गयी है फिर भी विभाग ने ज़मीन मालिकों से आग्रह किया है की सर्वेक्षण के दौरान वे खुद उपस्थित रहे ताकि बाद में किसी प्रकार का समस्या ना उत्पन्न हो।

अब तक मिली जानकारी के अनुसार 40 गाँवों का खतियान तैयार कर लिया गया है जो की इस वर्ष अक्टूबर में मिलना आरम्भ हो जाएगा। भूमि सुधार मंत्री ने बताया की शेखपुरा ज़िला के प्रखंड घाट कुसुम्बा का भूमि सर्वेक्षण तेज़ी से होने के वजह से यहाँ के एक पंचायत का खतियान तैयार हो गया है जिसे अक्टूबर में भू-मालिकों को दिया जा सकेगा। सर्वे वाले शेष 40 गाँवों का खतियान बनने के आख़िरी चरण में है, फ़िलहाल एक अमीन पर दो पंचायत की ज़िम्मेवारी है। पाँच नए ज़िलों में जनवरी 2022 से शुरू होगा ज़मीन सर्वेक्षण।

मंत्री जी ने साथ साथ कहा की राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग में आयोग के ज़रिए बहाली भी की जा रही है। बीते समय 4950 अमीनो की नौकरी के लिए आवेदन माँगे गए थे, जिसमें अत्यधिक सीटे भर चुकी है, और जल्द ही विभाग को नए राजस्व अधिकारी और डेटा एंट्री ऑपरेटर भी मिल जाएँगे। इसके अलावा और भी कुछ रिक्तियाँ है जिन्हें जल्द से जल्द भर दिया जाएगा।

%d bloggers like this: