Tuesday, January 25

957 डीपीआर हैं तैयार ग्रामीण इलाकों की जल्द चमकेंगी सड़के।

बिहार सरकार ने ग्रामीण इलाकों के लिए खास निर्णय इस निर्णय द्वारा और ग्राम सड़क योजना के द्वारा कुल 957 सड़कों का निर्माण कार्य कराया जाएगा, साथ ही ग्रामीण इलाकों में लगातार दुर्घटनाओं पर कंट्रोल पाने हेतु साइनेज के साथ-साथ स्पीड मापक यंत्र तथा क्रैश बैरियर लगाया जाएगा। ग्रामीण इलाकों में सड़क निर्माण लगभग 2970 कीमी की लंबाई से कराया जाएगा।

 

957 ग्रामीण सड़कों के निर्माण – उपर्युक्त 957 ग्रामीण सड़कों के निर्माण हेतु डीपीआर बनाने में तकरीबन 20 लाख 78 हजार 138 का व्यय आएगा। और ये सबसे ज्यादा 137 सड़कें 424 किमी की लंबाई में बनाई जाएंगी, ग्रामीण कार्य विभाग के औरंगाबाद डिवीजन में सड़क निर्माण कराया जाएगा।

 

 

प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना –

पीएमजीएसवाई के पहले तथा दूसरे चरण में वर्तमान समय में तकरीबन 22 किमी सड़क का निर्माण में अधूरा पड़ा है। लेकिन इन सड़कों को वर्ष 2022 माह मार्च तक बनवाने की समय अवधि दी गई है। सूत्रों की माने तो सड़कों के निर्माण के लिए सर्वप्रथम पहले डीपीआर बनाने के लिए सलाहकार की बहाली की जाती है और इन परामर्शदाता के ज़रिए डीपीआर बनाने के लिए 1 किमी ग्रामीण सड़क बनाने में तकरीबन 10,800 का व्यय होता है। बता दें ग्रामीण पथ अनुरक्षण नीति 2018 के द्वारा सड़क निर्माण के लिए चुने ठेकेदारों को सड़क निर्माण के साथ-साथ आने वाले 5 साल तक मरम्मत की भी रिस्पांसिबिलिटी दी जाती है। पीएमजीएसवाई के पहले तथा दूसरे चरण में वर्तमान समय में तकरीबन 22 किमी सड़क का निर्माण में अधूरे पड़े काम में खर्च तकरीबन 778 सड़क तथा 315 पुलों को सम्मिलित किया गया है। जो जल्द ही बन कर तैयार होगा।

 

%d bloggers like this: