Tuesday, January 25

रेलवे की नई पहल – 20 कोच को मिनटों में रोबोट करेगा सैनिटाइज।

ट्रेन में सफर के दौरान संक्रमण से बचाने के लिए लोगों के सुरक्षा हेतु रेलवे ने एक नई पहल की है –

इस नई व्यवस्था द्वारा केवल 2:30 मिनट में ही पूरी बोगी सैनिटाइज कर दी जाएगी और रेलवे ने यह भी दावा किया है इस डिवाइस के इस्तेमाल से आने वाले दिनों में कोरोना संक्रमण को भी रोका जा सकेगा। इस नई व्यवस्था द्वारा केवल ढाई मिनट में ही पूरी बोगी को रोबोट सैनिटाइज कर देगा रेलवे द्वारा यह भी दावा किया गया है की इस डिवाइस के इस्तेमाल से आने वाले दिनों में कोरोना संक्रमण को भी रोका जा सकेगा।

 

जी हां, बता दें रेलवे ने नई पहल की है-  रेलवे ने अब एक खास तरह का वायरलेस यूवी डिवाइस तैयार किया है जिसके द्वारा ढाई मिनट में पूरी बोगी को सैनाटाइज़ कर दिया जाएगा। अब तक देखा गया है यूवी लाइट आम आदमी के लिए काफी नुकसानदायक होती है और यह एक तकनीकी यूवी लाइट पर ही चलती है और इसमें रोबोट का प्रयोग किया गया है। अब रोबोट बोगीयों को संक्रमण से मुक्त करेगा। साथ ही तब तक उस बोगी में कोई नहीं रहेगा। ताकि मशीन से निकली हुई ये नुकसान दायक किरणों के दुष्प्रभाव से बचा जा सके।

 

देखा गया है जिस तरह ऑपरेशन थियेटरों में सर्जिकल इंस्ट्रूमेंट यूवी लाइट के जरिए साफ किया जाता है। इसी यूवी लाइट का इस्तेमाल यहां भी किया जाएगा। बता दें तकनीकी के जरिए पूरी रैक के 20 कोचेल को सेनिटाइज़ करने में 40 से 45 मिनट का समय लगता है और रेलवे की ओर से दिल्ली लखनऊ शताब्दी में प्रयोगिक रूप में प्रारंभ किया जा चुका है। और कालका शताब्दी में यह बहुत जल्द प्रारंभ होने वाला है। उत्तरी रेलवे के प्रवक्ता दीपक कुमार के अनुसार यदि मानें तो आने वाले समय में इसे अधिक से अधिक ट्रेनों में प्रयोग किया जाएगा।

%d bloggers like this: