Wednesday, January 19

बिहार के 15 ज़िलों का चयन, यास तूफ़ान में बर्बाद फसल का मिलेगा मुआवज़ा, ऐसे करें आवेदन

कुछ दिन पूर्व यास तूफान से किसानों की फसल बरबाद हो गई ये बंगाल की खाड़ी से उठे चक्रवाती तूफान यास ने बिहार में तकरीबन 26 से 28 मई तक करीब 73085.77 हेक्टेयर क्षेत्र में फसल को क्षति पहुंचाई जिससे सम्बन्ध में सरकार ने क्षति की पूर्ति के लिए 16 जिलों के किसानों से सितंबर माह तक आवेदन मांगे हैं ।

 

 

मई के अंतिम सप्ताह में आए हुए तूफान से किसानों की फसल को क्षति 16 जिलों के 102 प्रखंडों के 1369 पंचायतों के किसानों को पहुँची और इस क्षतिग्रस्त फसलों के लिए कृषि इनपुट अनुदान योजना के द्वारा किसानों को फायदा पहुंचेगा जिससे संबंधित सितंबर के 12 तारीख तक आवेदन मांगे गए हऔर यह कृषि इनपुट अनुदान सभी पंजीकृत रैयत तथा गैर रैयत कृषकों को दिया जाएगा जिसके लिए आवेदन ऑनलाइन कराना होगा। क्षतिपूर्ति के रूप में न्यूनतम 1000 रू किसानों को दिए जाएंगे। और आसंचित फसल के लिए 6,800 रुपय और संचित क्षेत्र के लिए 13,500 शाश्वत फसल यानी के गन्ना अन्य के साथ-साथ 18000 रू प्रति हेक्टेयर का अनुदान सरकार देगी।

 

 

बता दे के एक किसान को ज्यादा से ज्यादा 2 हेक्टेयर पर छतिपूर्ति दी जा रही है। बंगाल की खाड़ी से उठे। चक्रवाती तूफान व्यास ने बिहार में तकरीबन 26 से 28 मई तक 70 से अधिक हेक्टेयर क्षेत्र में फसल को क्षति पहुचाई इस बाबत क्षति की भरपाई करने हेतु आपदा प्रबंधन विभाग से नुकसान की भरपाई करने के लिए 100 करोड़ रुपए की मांग की गई थी।

 

 

इन क्षेत्रों के किसानों को योजना का मिलेगा लाभ।

बता दें राजधानी पटना के साथ भोजपुर, बक्सर अरवल, पश्चिमी, चंपारण, वैशाली, दरभंगा, मधुबनी, शेखापुर, लखीसराय के साथ साथ गढ़िया सहरसा मधेपुरा अररिया कटिहार पूर्णिया को मुआवजा देने के लिए चिन्हित किया गया है ।

Leave a Reply

%d bloggers like this: