Thursday, January 27

बिहार के सड़कों का होगा उद्धार, 3300 पुलों से बदल जाएगी राज्य के इन ज़िलों की सूरत

बिहार राज्य में पुल और पुलिया की मरम्मत न होने के कारण लगातार दुर्घटना हो रहीं हैं और इन दुर्घटनाओं को ध्यान में रखते हुए महत्वपूर्ण निर्णय लिया गया है।  के इन पुलियों और पुलों की मरम्मत कराई जाए जिससे दुर्घटनाओं में कमी आए, विभागीय अधिकारियों के अनुसार पथ निर्माण ग्रामीण कार्य विभाग तथा एनएचएआई से इस पर कार्य प्रारंभ कर भी चुका है ।

 

 

उपर्युक्त दुर्घटनाओं के आंकड़े विभाग की ऑडिट रिपोर्ट के अनुसार सामने आए जिसमें राज्य में 3300 एसी पुल और पुलिया हैं जिनका जीर्णोद्धार होना तैय किया गया  असल में पिछले महीने रोड सेफ्टी की हुई रिव्यू मीटिंग में सड़क दुर्घटनाओं के कारणों का मंथन हुआ जिसमें परिवहन स्वास्थ्य सड़क शिक्षा ग्रह के साथ-साथ बाकी विभाग के अधिकारी भी सम्मिलित थे, और बैठक में दुर्घटना का कारण पुल और पुलिया भी बनी जिनके टूटने के वजह से बराबर दुर्घटनाएं हो रही है ।

 

 

रिपोर्ट के अनुसार एनएचएआई के अधीन राज्य में तकरीबन दो दर्जन पुलों को चिन्हित किया जा चुका है जिसके वजह से सड़क दुर्घटनाएं बराबर होती है। उपर्युक्त पुलों और पुलयों की परत को ठीक करने के साथ-साथ जरूरत के हिसाब से ठीक कराया जाएगा और साथ ही बाकी तकनीकी कार्य भी कराए जाएंगे मानना है इसके बाद सड़क दुर्घटनाओं को रोका जा सकेगा ,

 

 

उपर्युक्त के साथ पथ निर्माण विभाग के अधीन राज्य में पुल और पुलिया चिन्हित की गई जिसकी संख्या कुल 2941 निकली वर्तमान समय में विभाग इन पुलियों और पुलों की खराबी की मरम्मत में जुट गया है। हालांकि ग्रामीण कार्य विभाग के अधीन ऐसे 350 पुल और पुलिया भी चिन्हित की गई है जिसके लिए ग्रामीण कार्य विभाग भी उपरोक्त के जीर्णोद्धार में जुट गया है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: