गोरखपुर,( कुलसूम फात्मा )  हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट के द्वारा लोगों की मनमानी पर पूर्ण रूप से रोक लगा दी गई है। लोग चाहने के बाद भी वाहनों के नंबर प्लेट पर पापा बाबा या फिर दादा या कोई जाति सूचक शब्द नहीं लिखवा पाएंगे अभी फिलहाल जो पुराने वाहन हैं, उनपर वाहन चालक यह मनमानी जारी करें हैं परंतु 1 जुलाई से पुराने वाहनों पर भी हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट को अनिवार्य कर दिया जाएगा जिससे सुरक्षा तो बढ़ेगी ही और नंबरों का खेल भी समाप्त हो जाएगा।

 

 

 

बता दें 2019 अप्रैल की 1 तारीख से बिक रहे  बीएस-6 वाहनों पर हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट पूर्ण रूप से अनिवार्य कर दी गयी है और ऐसे में इन नंबर प्लेट पर कुछ भी अतिरिक्त लिखवाना नियम का पालन ना करना होगा  मतलब के वाहन चालकों को अपने मनपसंद शब्दों को वाहन से हटवाना पड़ जाएगा। हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट ने वीआईपी तथा कुछ खास नंबरों की मांग को खत्म कर दिया है। अप्रैल 2019 से पूर्व 4159 तथा 6169 तथा 9191 तथा 2171 और 0214 के साथ-साथ 4749 नंबर की काफी मांग होती थी। खासकर युवा इन नंबरों की मांग करते हैं और अपने हिसाब से इन नंबरों को लिखवा कर मनपसंद शब्द बना लेते हैं। यही नहीं बल्कि कुछ वीआईपी फैंसी नंबरों की तो बोली तक लगने लगी थी, परंतु इस प्रक्रियाओं पर रोक लगाई जा रही है कुछ दिन पूर्व कुछ नंबर तो लाखों में बिकने लगे थे।

 

 

अंक शास्त्र नंबरों की बढ़ी मांग।

सहायक संभागीय परिवहन अधिकारी श्यामलाल से जब बातचीत की तो उन्होंने बताया अब अंकशास्त्र वाले नंबरों की मांग बढ़ गई है। और इसके लिए लोग काफी पैसा खर्च करने के लिए भी तैयार हैं खरीदने से पहले ही लोग नंबर तय कर ले रहे हैं। परंतु हाई सिक्योरिटी नंबर की अनिवार्यता के पश्चात भी वीआईपी और फैंसी नंबरों की मांग तकरीबन समाप्त कर दी गई है। रूल के अनुसार नंबर प्लेट पर मानक के अनुसार ही नंबर लिखने का प्रावधान है। अतिरिक्त कुछ भी लिखने पर 1000रू
का अब जुर्माने का प्रावधान कर दिया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.