बिहार की राजधानी पटना में मेट्रो का काम तेजी से शुरू हो चुका है। कंकड़बाग मलाही पकड़ी से न्यू आईएसबीटी रूट तक पार्टी कॉरिडोर का काम पहले चल रहा था लेकिन अब अशोक राजपथ पर भी मेट्रो के काम में रफ्तार पकड़ लिया है अशोक राष्ट्रपति पर घेराबंदी का कार्य चल रहा है जगह पर पहले मिट्टी की जांच की जाएगी जिसके बाद डिजिटल सर्वे का काम शुरू किया जाएगा और फिर स्टेशन के पिलर के लिए नींव रखी जाएगी।

 

आईएसबीटी के पास दीपों के निर्माण का कार्य चल रहा है पटना स्टेशन से न्यू आईएसबीटी तक कॉरिडोर दो है जिसमें लगभग 12 स्टेशन होंगे प्रायोरिटी कॉलेज और के अंतर्गत एलिवेटेड स्टेशनों का काम 2030 तक पूरा होने की संभावना है।

 

पटना मेट्रो से जुड़े हुए भूमिगत रूट की बड़े फंड की आवश्यकता पड़ेगी जोकि जापान इंटरनेशनल कॉरपोरेशन एजेंसी और अन्य वित्तीय संस्थानों से ली जाएगी इसलिए पटना मेट्रो की भूमिका में जायका की भूमिका को काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है। जैका के अधिकारी इसी महीने पटना मेट्रो प्रोजेक्ट का एक बार फिर से दौरा कर सकते हैं। पहले भी जायका के जापान मुख्यालय की तरफ से पटना मेट्रो का सर्वे किया जा चुका है।

 

भूमिगत रूट के लिए जो फंड जायका से ली जाएगी उसे तकरीबन एक दर्जन मेट्रो से जुड़े महत्वपूर्ण प्रोजेक्ट की प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी। रिपोर्ट के अनुसार पटना मेट्रो के निर्माण के लिए करीब 72.56 प्रतिशत जमीन उपलब्ध है वही इसके सिविल कार्य का खर्च 4695. 49 करोड़ है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.