बुधवार, दिसम्बर 8

लॉकडाउन खुलने के बाद भी नहीं खुलेंगे स्कूल और कॉलेज, सरकार द्वारा नयी मुहीम का हुआ ऐ’लान

आने वाले दिनों में लॉ’कडाउन भले ही हट जाएगा, लेकिन जब तक को’रोना से बचाव का कोई कारगर उपाय सामने नहीं आ जाता है, सरकार तब तक छात्रों को फिलहाल घर बैठे ही ऑनलाइन पढ़ाई कराएगी। मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने इसे लेकर जोर-शोर तैयारी भी शुरु कर दी है। साथ ही ‘पढ़े भारत ऑनलाइन’ नाम से एक नई मुहिम भी शुरु की है। इसके तहत ऑनलाइन शिक्षा को और बेहतर बनाने के लिए देश भर के विशेषज्ञों से सुझाव मांगे गए है।

 

 

मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने शुक्रवार को इस मुहिम का ऐ’लान किया। साथ ही हफ्ते भर के भीतर से सभी से ऑनलाइन शिक्षा को बेहतर बनाने से जुड़े सुझाव देने को कहा है। उन्होंने इस दौरान ऐसे संस्थानों, विशेषज्ञों और छात्रों से अनिवार्य रुप से अपने सुझाव देने को कहा है, जो मौजूदा समय में आनलाइन शिक्षा दे रहे है या उससे जुड़े है। खासबात यह है कि सरकार ने लॉकडाउन के दौरान ही एक अप्रैल से शुरु हुए नए शैक्षणिक सत्र से ही छात्रों की ऑनलाइन पढ़ाई शुरु कर दी है। जो टेलीविजन के साथ आनलाइन के दूसरे माध्यमों से छात्रों की दी जा रही है। इस दौरान जो बच्चे इस साल दसवीं और बारहवीं में है, उसके लिए लाइव क्लास भी लगाई जा रही है।

स्कूल- कालेजों में कोरोना के संक्रमण का खतरा बना रहेगा

मंत्रालय से जुड़े अधिकारियों के मुताबिक आनलाइन शिक्षा को तेजी से बढ़ावा देने का यह फैसला कोरोना के चलते उपजी परिस्थितियों को देखते हुए लिया गया है। क्योंकि मौजूदा हालत में लॉकडाउन खत्म होने के बाद भी स्कूल- कालेजों में कोरोना के संक्रमण का खतरा बना रहेगा। ऐसे में मंत्रालय की कोशिश है कि जब तक देश के सामने कोरोना के संक्रमण के खतरे से पूरी तरह से सुरक्षित नहीं हो जाता है,तब स्कूल-कालेजों में पढ़ाई शुरु करना कठिन होगा।

 

घर बैठे दी जाएगी आनलाइन शिक्षा

ऐसे में बच्चों को घर बैठे आनलाइन शिक्षा ही दी जाएगी। यही वजह है कि देश भर से आनलाइन शिक्षा कैसी होनी चाहिए। इसे कैसे और रोचक बनाया जा सकता है आदि सवालों से जुड़े सुझाव मांगे गए है। इनके आने के बाद इसमें जरूरी बदलाव भी किए जाएंगे। बता दें कि पिछले दिनों में मंत्रालय ने आनलाइन शिक्षा के साथ परीक्षा कराने को लेकर एक उच्च स्तरीय कमेटी गठित की है। स्थिति नहीं सुधरी, तो आने वाले दिनों में इसे भी आजमाया जा सकता है।