सोमवार, नवम्बर 29

यूपी के इस जिले में फैक्ट्री गैस रिसाव से हड़कंप, एक ही परिवार के पांच लोगो की मौत कुल 7 लोगो की मौत

गैस रिसाव के चलते दम घुटने से सात लोगों की मौत हो गई है। दरी फैक्ट्री में गैस रिसाव की चपेट में कई लोग आ गए, जिसमें अभी तक सात लोगों की मौत हो गई है। गैस रिसाव की सूचना के बाद जिला प्रशासन और पुलिस प्रशासन के आला अधिकारी और भारी फोर्स पहुंच गई है। जिले के बिसवां कोतवाली क्षेत्र के जलालपुर गांव में दरी फैक्ट्री में दम घुटने से सात लोगों की मौत हो गई। मरने वालों में तीन पुरुष, एक महिला व तीन बच्चे शामिल हैं। इसमें पांच लोग एक ही परिवार के बताए जा रहे हैं। प्रथमदृष्टया मौत का कारण पड़ोस की एसिड फैक्ट्री गैस का रिसाव माना जा रहा है। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक बगल की फैक्ट्री से तेजाब रिस कर आ गया था जिसकी वजह से गैस बन गई। चंदनपुर गांव के मुनव्वर ने अपने परिवार के पांच लोगों की मौत की पुष्टि की है। उसके मुताबिक उसका बहनोई अतीक यहां पर चौकीदारी करता था।

वह अपने परिवार के साथ रात में यही रुकता था। मृतकों में अतीक पुत्र अज्ञात उम्र (45) वर्ष, (2) सायरा पत्नी अतीक उम्र (42) वर्ष, (3) आयशा पुत्री अतीक उम्र (12) वर्ष , (4) आफरोज पुत्र अतीक उम्र 08 वर्ष, (5) फैजल पुत्र अतीक उम्र (2) वर्ष, मोटू उम्र 75 वर्ष पुत्र अज्ञात, पहलवान पुत्र अज्ञात उम्र (70) वर्ष वर्तमान निवासित दरी फैक्ट्री बिसवां थाना। सभी मूलरूप से जनपद कानपुर के निवासी हैंं। डीएम ने बताया कि दरी फैक्ट्री के पास एक छोटी कैमिकल फैक्ट्री है। जिसमें रात को टैंकर से कोई लिक्विड उतारा गया था। यह लिक्विड जमीन पर गिरा है। जिससे जहरीली गैस बनी है। फैक्ट्री के पास ही मजदूर रहते हैं। गैस की चपेट में आने से इन लोगों की मौत हुई है। गैस का प्रभाव अभी भी है। एनडीआरएफ को मौके पर बुलाया गया है।

पर्यावरण व प्रदूषण नियंत्रण विभाग के विशेषज्ञों की टीम भी मौके पर बुलाई गई है। राहत बचाव कार्य जारी है। मुख्यमंत्री सहायता कोष से मृतक परिवारों को चार-चार लाख रुपये की सहायता राशि दी जाएगी। जांच के निर्देश दिए हैं, फैक्ट्री प्रबंधन को भी बुलाया है। जांच रिपोर्ट आने के बाद आवश्यक कार्रवाई की जाएगी। वहीं मुख्यमंत्री कार्यालय ने भी घटना को संज्ञान में लिया है। जिला प्रशासन को राहत बचाव के साथ आवश्यक कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। घटना के बारे में एसडीएम बिसवां सुरेश कुमार ने कहा कि जांच के बाद ही स्थिति स्पष्ट हो पाएगी। विशेषज्ञों की टीम को मौके पर आ रही है। फैक्ट्री में अत्याधिक बदबू व गैस की वजह से जांच करने में मुश्किलें आ रहीं हैं। वहीं लखनऊ से भी एक्सपर्ट टीम भी सीतापुर के लिए रवाना हो गई है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सीतापुर में एक दरी फैक्ट्री में जहरीली गैस रिसाव से लोगों की मृत्यु पर गहरा शोक व्यक्त किया है। उन्होंने मृतकों के शोक संतप्त परिजनों के प्रति अपनी संवेदना भी व्यक्त की है। मुख्यमंत्री ने जिला प्रशासन के अधिकारियों को तत्काल मौके पर पहुंचने का निर्देश देने के साथ घटना से प्रभावित व्यक्तियों को हर सम्भव राहत देने को कहा है। इसके साथ ही दोषियों के खिलाफ बेहद सख्त कार्रवाई का भी निर्देश दिया है। मुख्यमंमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मृतकों के परिवारीजनों को चार चार लाख रुपये की आर्थिक सहायता की घोषणा की है। मरने वालों में पांच लोग एक ही परिवार के थे। वहीं दो अन्य लोगों की भी पहचान हो गई है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *