बुधवार, दिसम्बर 8

भारत और यूएई में एक और समझौता, दुबई के पोर्ट रशीद से हुआ घोषणा

भारतीय और यूएई समुद्री एजेंसियां ​​भारतीय त’टरक्षक जहाज आईसीजीएस समुंद्र पहारेदार की सद्भावना यात्रा के हिस्से के रूप में विभिन्न संयुक्त अभ्यास करेंगी जो समुद्री प्रदूषण नियंत्रण में विशिष्ट है। तीन दिवसीय यात्रा के दौरान, जहाज यूएई समुद्री एजेंसियों के साथ विभिन्न समुद्री-संबंधी यु’द्धाभ्यास करेगा, रविवार रात दुबई के पोर्ट राशिद में जहाज की यात्रा के दौरान यह घो’षणा की गई थी।

दुबई में भारतीय वाणिज्य दूतावास के अनुसार, संयुक्त अभ्यास में समुद्री प्रदूषण प्रतिक्रिया, समुद्री खोज और बचाव और समुद्री का’नून प्रवर्तन शामिल होंगे। भारत और यूएई समुद्र के पार के पड़ोसी हैं और हिंद महासागर रिम एसोसिएशन में प्रमुख भूमिका निभाते हैं जिसे यूएई वर्तमान में अध्यक्षता कर रहा है। यूएई के भारतीय राजदूत, पवन कपूर ने कहा, “हम विभिन्न प्रकार के क्षेत्रों में संयुक्त अरब अमीरात के साथ द्विपक्षीय संबंधों के संदर्भ में आगे बढ़ रहे हैं और रक्षा निश्चित रूप से उनमें से एक है।”

यूएई के अधिकारियों, मीडिया और भारतीय समुदाय के प्रमुख सदस्यों को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा, “[एक आईसीजीएस] जहाज का यहां आना और हमारे कर्मियों के बीच आदान-प्रदान एक ऐसी चीज है जो [द्विपक्षीय] चीजों का एक बहुत महत्वपूर्ण हिस्सा है।”दो साल पहले संयुक्त अरब अमीरात में पहले संयुक्त नौसैनिक अभ्यास को याद करते हुए, राजदूत ने कहा: “हमें उम्मीद है कि अगले महीने हम एक और आदान-प्रदान करेंगे और मुझे उम्मीद है कि यह जारी रहेगा और गति बनाए रखेगा।”

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *