शुक्रवार, दिसम्बर 3

भागलपुर DM प्रणव कुमार द्वारा निर्देश जारी, सिर्फ निबंधित श्रमिकों को 20 हज़ार रुपये मिलेंगे

डीएम प्रणव कुमार ने श्रम व नियोजन विभाग के कामाें की समीक्षा की। योजनाओं का लाभ पात्र लाभुकों को देने और डज्यादा से ज्यादा श्रमिकों का निबंधन कराने का निर्देश दिया। श्रम अधीक्षक ने बताया कि बिहार भवन व अन्य कल्याणकारी योजना के तहत 32758 श्रमिकों का निबंधन किया है। 16 योजनाएं चल रही हैं। इनमें भवन मरम्मत, मातृत्व सहायता, विवाह योजना, नगद पुरस्कार अादि शामिल हैं। योजना के तहत दुर्घटना, मृत्यु के तहत 97 लोगों को भुगतान किया गया है। राज्य प्रवासी दुर्घटना अनुदान योजना में सात को भुगतान किया गया। जो श्रमिक निबंधित है, उन्हें घर मरम्मत के लिए 20 हजार रुपए जाते हैं।

250 आवेदन पेंडिंग है, जांच कर राशि दी जाएगी। श्रमिकों के पुत्री की शादी के लिए अनुदान देने का प्रावधान है। दुर्घटना अनुदान भी श्रमिकों को दिया जाता है। साइकिल वितरण की भी योजना है। श्रमिकों के पुत्र व पुत्री अगर प्रथम श्रेणी से मैट्रिक की परीक्षा पास करते हैं, तो उन्हें मेधावृति की राशि दी जाएगी। डीएम ने योजनाओं का प्रचार-प्रसार कराने का निर्देश दिया। कार्यशाला आयोजित कर जनप्रतिनिधियों व श्रमिकों को देने का निर्देश दिया। डीएम ने आवेदन जेनरेट करने का भी निर्देश दिया। बाल श्रमिकों की मुक्ति के लिए विशेष अभियान चलाने अाैर बिहार प्रवासी मजदूर दुर्घटना योजना का लाभ देने का निर्देश दिया। न्यूनतम भत्ता के मामले में आवश्यक कार्रवाई करने का निर्देश दिया। श्रम अधीक्षक द्वारा कम श्रमिकों को योजनाओं का लाभ देने के कारण डीएम ने नाराजगी व्यक्त की।


नियाेजन कैंप, जाॅब फेयर लगाकर बेराेजगार काे राेजगार दिलाएं : डीएम ने नियाेजन के सहायक निदेशक को जितने भी योग्य श्रेणी के पढ़े-लिखे युवा हैं, उन्हें प्रशिक्षण देकर बिजनेस अाधारित प्रशिक्षित कराने का निर्देश दिया। साथ ही नियोजन कैंप, जाॅब फेयर आॅर्गेनाइज करने का निर्देश दिया। डीएम ने स्किल डोमेन वाली ट्रेनिंग बेरोजगार शिक्षित युवाओं को देने का निर्देश दिया। साथ ही सरकार की महत्वाकांक्षी योजनाओं का प्रचार-प्रसार पर बल देते हुए उन्होंने कहा कि बेरोजगार निबंधित युवाओं को इसकी जानकारी आवश्यक रूप से दी जाय।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *