शुक्रवार, दिसम्बर 3

भागलपुर से नए रुट पर रवाना हुई ट्रेन, रुट में बाघा बॉर्डर भी शामिल, हर बोगी में आरो पानी उपलब्ध

जेएनएन, जेएनएन। इंडियन रेलवे केटरिग एंड टूरिज्म कॉरपोरेशन लिमिटेड (आइआसीटीसी) की ओर से चलाई गई आस्था सर्किट ट्रेन भागलपुर से गुरुवार की सुबह जय श्रीराम, जय माता दी कि जयघोष के साथ आस्था सर्किट ट्रेन तीर्थ यात्रियों को लेकर रवाना हुई। इस ट्रेन के स्लीपर कोच में एक बर्थ भगवान की मूर्तियों रखीं रखी गई है। आस्था सर्किट ट्रेन खुलते ही यात्री भजन कीर्तन की।

आस्था सर्किट से सफर करने वाले यात्री राम जन्म भूमि अयोध्या, हरिद्वार, ऋषिकेश, माता वैष्णो देवी, अमृतसर का स्वर्ण मंदिर का दर्शन करेंगे। इसके बाद बाघा बोर्डर भी जाएंगे। भागलपुर यह ट्रेन 20 मार्च को लौटेगी। नास्ता, पानी और भोजन भी मिलेगा : सभी पैसेंजर को नाश्ता, दोपहर और रात का भोजन शाकाहारी दिए जाएंगे। सभी कोच में सुरक्षा गार्ड और फर्स्ट एड कीट भी रखा गया है। हर कोच में आरओ पानी का जार यात्रियों के लिए उपलब्ध है।

पूर्व बिहार के लोगों को इस ट्रेन से जोड़ने की कोशिश : दरअसल, आइआरसीटीसी की ओर से सभी जोन और रेल मंडलों में तीर्थ स्थलों का दर्शन कराने के लिए आस्था सर्किट स्पेशल का परिचालन किया जा रहा था। आइआरसीटीसी पूर्वी क्षेत्र के वरीय पर्यवेक्षक मनीष कुमार ने बताया कि पूर्व बिहार के लोगों को इस ट्रेन से जोड़ने की कोशिश की गई है। आस्था सर्किट स्पेशल पहले हरिद्वार पहुंचेगी। 13 मार्च की रात आठ बजे हरिद्वार पहुंचेगी।

यहां से यात्रियों को बस से ऋषिकेश का दर्शन कराया जाएगा। 15 मार्च को माता वैष्णो देवी कटरा स्टेशन पहुंचेगी। 16 मार्च को यहां से चलेगी और जालंधर सिटी पहुंचेगी। यहां से बस से स्वर्ण मंदिर और बाघा बोर्डर के लिए ले जाया जाएगा। 18 को यहां से खुलने के बाद यह ट्रेन 19 को फैजाबाद आएगी। जहां से लोगों को अयोध्या, सरयू नदी और रामजन्म भूमि का दर्शन कराया जाएगा। 19 की शाम फैजाबाद से चलेगी और 20 को भागलपुर पहुंचेगी।

 

2 Comments

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *