बुधवार, दिसम्बर 8

भागलपुर जोन में रेलवे लाइन के ऊपर बना ये उल्टा पूल आज टूटेगा, अब सिर्फ इतिहास में रहेगा याद

पीरपैंती स्टेशन के पास स्थित उल्टापुल संख्या 91 रविवार को ध्वस्त कर दिया जायेगा। यह अब केवल इतिहास में याद रखा जाएगा। शनिवार को दिनभर पुल का अंतिम दर्शन करने बड़ी संख्या में लोग पहुंचे। 80 वर्ष के बुजुर्गों से लेकर 21 वर्ष के युवकों ने जिस उल्टापुल से अपनी पढ़ाई लिखाई, अपना कारोबार किया। इस पार से उसपार आए गए, उस उल्टा पुल का नामोनिशान जो मिट जाएगा।

धनबाद से रविवार को पुल उड़ाए जाने वाले तीन सदस्यीय वैज्ञानिकों का दल भी पहुंच गया। दल में मुरारी राय, विवेक हिमांशु तथा सूरज कुमार शामिल हैं। जबकि पूर्व से यहां मौजूद शैल उत्खनन अभियांत्रिकी विभाग के वरिष्ठ प्रधान वैज्ञानिक एसआईओसी सोम लियोन, वरिष्ठ तकनीकी अधिकारी राकेश कुमार सिंह भी चार सदस्यीय दल के साथ मौजूद हैं। वैज्ञानिकों ने बताया कि पुल उड़ाने के लिए सुरक्षा का जो मुख्य घेरा है उसे तैयार कर लिया गया है।

मिट्टी की बोरी आधा से एक मीटर तक रख दी गयी है। अंदरूनी घेरा किए गए 200 सुराखों में बारूद भरने के बाद सारे सुराखों को आपस में जोड़कर मिली सेकेंड डिले डेटोनेटर का प्रयोग करते हुए विस्फोट किया जाएगा। विस्फोट के पूर्व रेलवे ट्रैक की सुरक्षा भी सुनिश्चित कर ली जाएगी। श्री सिंह एवं श्री लियोन ने बताया कि रेलवे के अधिकारियों को यह निर्देश दिया गया है कि ओवरहेड इलेक्ट्रिक लाइन को विस्फोट के पूर्व खोलकर हटा लिया जाय। साथ ही आसपास के घरों में भी विस्फोट से बचाव के लिए सुरक्षित उपाय करने के निर्देश दिए गए हैं।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *