बुधवार, दिसम्बर 8

भागलपुर जोन बांका में नया प्लांट शुरू, समस्त बिहारीयों के लिए बड़ी खुशखबरी, 120 मिट्रिक टन उत्पादन

बिहार के लोगों के लिए खुशखबरी है, अब उन्हें घरेलू गैस की किल्लत से निजात मिलने वाली है। खासकर. त्योहारी सीजन में लोगों को घरेलू गैस मिलने में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता था। तो अब त्योहारी सीजन में भी घरेलू गैस की किल्लत नहीं होगी। मुजफ्फरपुर, बरौनी और आरा के बाद राज्य में इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन लिमिटेड (आइओसीएल) के चौथे एलपीजी बॉटलिंग प्लांट ने बांका में कार्य करना आरंभ कर दिया है। पहले यह ट्रायल फेज में चल रहा था। यहां एक पाली में प्रतिदिन 21 हजार सिंलिंडरों की रिफिलिंग होगी।

यहां से भागलपुर, बांका, जमुई, पूर्णिया, कटिहार, किशनगंज एवं अररिया जिले में सिलेंडर भेजे जाएंगे। पहले बरौनी व बोकारो से इन जिलों को सिलिंडर भेजे जाते थे। इससे कई बार घरेलू गैस की किल्लत होती थी। अब उपभोक्ताओं को आसानी से घरेलू गैस उपलब्ध हो सकेगी। इंडियन ऑयल ने बांका में 131.75 करोड़ की लागत से 60 हजार मीट्रिक टन प्रतिवर्ष क्षमता वाले एलपीजी बॉटलिंग प्लांट का निर्माण कराया गया है। अभी यह एक शिफ्ट में कार्य करेगा। जल्द ही यहां दो शिफ्ट में कार्य होगा।

बांका एलपीजी प्लांट को बिछाने वाली पाइपलाइन (पारादीप-हल्दिया- दुर्गापुर) का कार्य तेजी से चल रहा है। इसके मार्च तक पूरा होने की उम्मीद है। अप्रैल से प्लांट गैस पाइपलाइन से जुड़ जाएगा। वर्तमान में यहां टैंकर से गैस पहुंचाने का कार्य किया जा रहा है। पाइपलाइन जुडऩे से बांका भी बरौनी, पटना व मुजफ्फरपुर प्लांट से भी जुड़ जाएगा।

प्रति वर्ष उत्पादन (मीट्रिक टन), प्लांट – उत्पादन, आरा – 150, मुजफ्फरपुर – 120, बरौनी – 120 बांका में आइओसीएल का चौथा बॉटलिंग प्लांट आरंभ हो गया है। यहां से आधा दर्जन जिलों में घरेलू गैस सिलेंडर की आपूर्ति की जाएगी। यहां हर दिन एक शिफ्ट में 21 हजार सिलेंडर की बॉटलिंग होगी। – विभाष कुमार, कार्यकारी निदेशक सह राज्य प्रमुख, आइओसीएल।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *