पटना मेट्रो रेल परियोजना के कॉरिडोर-2 पर अंतिम पड़ाव पाटलिपुत्र बस टर्मिनल राजधानी में मल्टी-मोडल हब के रूप में दिखेगा। 2025 तक तैयार होने के लिए, यह एक ऐसा टर्मिनल होगा जो विभिन्न परिवहन प्रणालियों के लिए एक मल्टीमॉडल सुविधा प्रदान करता है। इसका नजदीकी पाटलिपुत्र बस टर्मिनल से सीधा जुड़ाव होगा। पटना मेट्रो परियोजना के कॉरिडोर 2 के साढ़े छह किलोमीटर के विस्तार में पांच एलिवेटेड स्टेशन शामिल होंगे। इनमें मलाही पकरी, खिमनी चक, भूतनाथ, जीरो माइल और पाटलिपुत्र बस टर्मिनल शामिल हैं। खोमेनी चक मेट्रो स्टेशन कॉरिडोर-1 और कॉरिडोर-2 के बीच इंटरचेंज स्टेशन होगा। यह जानकारी बुधवार को पटना मेट्रो प्रोजेक्ट की ओर से दी गई।

 

# पाटलिपुत्र बस टर्मिनल के साथ कनेक्टिविटी

मेट्रो स्टेशन पटना-गया रोड (राज्य राजमार्ग -1) पर पाटलिपुत्र बस स्टेशन के पास स्थित है, जो राज्य के लगभग हर हिस्से और पड़ोसी राज्यों को भी जोड़ता है। पाटलिपुत्र बस टर्मिनल भवन के भीतर दो प्रवेश द्वार, निकास, चार लिफ्ट और छह लिफ्ट की योजना बनाई गई है। यहां फुट ओवर ब्रिज भी बनाया जाएगा, जिसके जरिए इसे मेट्रो स्टेशन से जोड़ा जाएगा। पाटलिपुत्र बस टर्मिनल पर भारी यातायात को संभालने के अलावा, स्टेशन इलाहीबाग, सम्चक, आरपीएस स्कूल, एसएच -1 और आसपास के घनी आबादी वाले यात्रियों से आने वाले अन्य सभी यातायात की सुविधा भी प्रदान करेगा।

 

# एक पार्किंग स्थल, चार आटो और दो टैक्सी-बे  होंगी 

पाटलिपुत्र बस टर्मिनल पर अस्थायी पार्किंग और पिक-अप/ड्रॉप सुविधा की सुविधा के लिए मल्टीमॉडल एकीकरण प्रदान किया जाएगा। निजी और मध्यम सार्वजनिक परिवहन द्वारा पिक-अप/ड्रॉप सुविधा के लिए, प्रत्येक टर्मिनल के प्रवेश/निकास पर चारऑटो और दो टैक्सी-बे होंगे।

 

# चार लिफ्ट और छह एस्केलेटर यात्रियों के सुविधा के लिए होंगे।

यात्रियों की आवाजाही के लिए मेट्रो स्टेशन में चार लिफ्ट और छह एस्केलेटर की सुविधा दी जायगी । स्टेशन पर पार्किंग की भी बड़ी जगह होगी जिससे महात्मा गांधी सेतो और बख्तियारपुर की तरफ से आने वाले यात्रियों को सुविधा प्रदान की जाएगी।

 

#  कॉरिडोर 2 की स्थापना 2025 तक हो जाएगी

कॉरिडोर-2 के इन पांच स्टेशनों का निर्माण 2020 में शुरू हुआ था और इसके 2025 तक पूरा होने की उम्मीद है। 32.5 किलोमीटर की पटना रेलवे परियोजना में दानापुर-मीठापुर-खेमनी चक कॉरिडोर  (लाइन -1) और पटना रेलवे स्टेशन- पाटलिपुत्र बस टर्मिनल (लाइन- 2) शामिल हैं। इससे शहर के  बीस लाख से अधिक यात्रियों को लाभ होने की उम्मीद है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.