बिहार,( कुलसूम फात्मा )  राज्य में स्टांप पेपर की किल्लत को बहुत तेजी से दूर करने की तैयारी चल रही है। और ये किल्लत उत्पाद एवं
निबंधन विभाग ने पटना के ट्रेजरी ऑफिसर को नासिक के एक प्रिंटिंग प्रेस में भेजा, जहा से ट्रकों द्वारा पेपर को कड़ी सुरक्षा के साथ सड़क मार्ग से बिहार लाया जाएगा। इसके बाद बिनिन्न तिथियो को अलग अलग ज़िलों के ट्रेजरी ऑफिसर या सहायक ट्रेसरी ऑफिसर को दे दिया जाएगा।

 

 

कई दिनों से राज्य के कई जिलों में स्टांप पेपर के कमी को लेकर बराबर शिकायते आ रही थी जिससे लोगो को बहुत परेशानी का सामना करना पड़ रहा था  विभाग के अधिकारियों ने बताया के स्टांप पेपर का ज्यादा उपयोग 500, 1000 का होता है। इसलिए ये दो स्टांप पेपर को दो दो लाख की संख्या में मंगाए जा रहे है।

 

इसके अलावा कम मूल्य के भी स्टांप पेपर को भी मंगाया जा रहा है। जिससे कम मूल्य के स्टांप पेपर की कमी दूर हो सके सूत्रों के मुताबिक फिलहाल राज्य में “ई स्टांप” और ” ओ ग्रास” की सुविधाएं उपलब्ध है और इसका इस्तेमाल भी किया जा सकता है इन्हें भी कानूनी रूप से मान्यता प्राप्त है और इसका इस्तेमाल भी किया जा सकता है। ये सिविल कोर्ट से हाई कोर्ट तक उपलब्ध है। ई- चालान के माध्यम से ओ ग्रॉस पर ऑनलाइन भुगतान करके भी कार्य किया जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.