#

पिछले एक महीने में राज्य में करीब 229.28 किलोमीटर लंबी सात एनएच परियोजनाओं के लिए 12,604.51 करोड़ रुपये के टेंडर जारी किए गए हैं। इसमें शामिल तीन एनएच परियोजनाओं का टेंडर मंगलवार को जारी कर दिया गया है। इनकी अनुमानित लागत 2097.41 करोड़ रुपये है और इनकी लंबाई करीब 118.45 किलोमीटर है। इन तीनों सड़कों का निर्माण 2024 तक पूरा करने का लक्ष्य है। इसके लिए सड़क निर्माण मंत्री नितिन नवीन ने केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी को धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा कि इन तरीकों को लेकर 31 मई को केंद्रीय मंत्री के साथ बैठक हुई थी।

 

जारी टेंडर मंगलवार को रूट पर चोरमा से बैरगनिया लेन तक एनएच 227एफ करीब 353.09 करोड़ रुपये की लागत से करीब 34.56 किलोमीटर का होगा। इसके अलावा, लगभग 485.31 करोड़ रुपये की लागत से एनएच 527ए और 327ई बकौर-परसरमा-बनगांव-बैरियाही-महिषी के दो ट्रैक लगभग 39.18 किमी की लंबाई के साथ बनाए जाएंगे। मानिकपुर साहेबगंज फोरलेन NH 139W तक लगभग 44.80 किमी लंबा है और इसे लगभग 1,269.01 करोड़ रुपये की लागत से बनाया जाएगा।

 

# मानिकपुर से साहेबगंज सड़क का टेंडर जारी

NH 139W को पांच चरणों में बनाया जाएगा। पहले चरण में जेपी सेतु के समानांतर गंगा नदी पर छह लेन का पुल बनाया जाएगा। दूसरे चरण में सोनपुर बाइपास से मानिकपुर तक फोर लेन ग्रीन रोड और गंडक नदी पर नया पुल बनेगा। तीसरे चरण में मानिकपुर रोड से साहेबगंज का निर्माण किया जाएगा और इसका टेंडर जारी कर दिया गया है। चौथे व पांचवें चरण में साहबगंज से अरेराज और अरेराज से बटियाह तक चार लेन चौड़ी सड़क निर्माण के लिए भूमि का अधिग्रहण हो रहा  है।

 

# मुजफ्फरपुर को साहेबगंज से जोड़ा जाएगा-

नितिनसड़क निर्माण मंत्री नितिन नवीन ने कहा कि साहेबगंज को मुजफ्फरपुर से जोड़ने के लिए भारतमाला योजना के तहत डीपीआर  भी तैयार किया जा रहा है। जल्द ही भू-अर्जन की कार्रवाई शुरू होगा। धार्मिक गलियारे के तहत उमगांव से महिषी तक का काम एनएच में उमगांव से भेजा , एजेंसी को पहले ही आवंटित कर दिया गया है।

 

# नेपाली सीमा से होगा सीधा संबंध

कोसी नदी पर भेजा-बकौर के बीच टू लेन पुल का निर्माण जारी है। बकौर से परसरमा होते हुए बनगांव, बरियाही को जोड़ते हुए महिषी तक टेंडर निकाला गया  है। यह पूरे धार्मिक गलियारे की योजना को पूरा करता है। वहीं एनएच 227एफ के नए घोषित निर्माण से बैरगनिया  इंडो-नेपाल की सीमा का ईस्ट-वेस्ट कॉरिडोर को भी जोड़ने का काम करेगी। इस सड़क पर भारत-नेपाल सीमा सड़क परियोजना के तहत बैरगनिया में ललबकिया नदी पर पुल का निर्माण कार्य पहले से चल रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *