सोमवार, नवम्बर 29

बिहार में 17 मई के बाद का हाल जानिए, सीएम नितीश ने अधिकारियो को दिया ये जरुरी निर्देश

पुरे बिहार में अभी लॉकडाउन चल रहा है और केंद्र सरकार के अनुसार ये 17 मई तक चलेगा। लेकिन 17 मई के बाद क्या होगा ये कोई नहीं जानता। बिहार के मुख्यमंत्री नितीश कुमार का कहना है पुरे राज्य में अचानक से लॉकडाउन हटाना संभव नहीं है अर्थात वो लॉकडाउन तोड़ने के पक्ष में नहीं है। मुख्यमंत्री में अधिकारियो को निर्देश दिया है की वे 7 दिनों के भीतर अलग अलग राज्यों में फसे प्रवासियों की वापसी सुनिश्चित करें। एवं सभी कोरन्टाइन सेंटरों पर टेस्टिंग में तेजी लाएं।

मुख्यमंत्री ने साफ कहा कि बाहर से आ रहे लोगों की रैैंडम कोरोना जांच से काम नहीं चलेगा। बाहर से आ रहे लोगों की अधिक से अधिक संख्या मेें कोरोना जांच की जाए। इसके लिए पूरी तैयारी करें। जांच की क्षमता बढ़ायी जाए तभी कोरोना चेन को तोड़ा जा सकेगा। बिहार के 38 जिलों में 37 जिले कोरोना से प्रभावित हो चूका है एकमात्र जमुई जिला ही ऐसा है जहाँ अबतक एक भी मरीज नहीं मिले हैं। इसके अलावा बिहार में पिछले दिनों से कोरोना के मामलो में तेजी से बढ़ोतरी देखि जा रही है आज सोमवार रात्री तक बिहार में संक्रमितों की कुल संख्या 746 पहुच चूका है जिनमे कुल 367 लोग ठीक भी हुए है। इन्ही सभी वजहों से मुख्यमंत्री नही चाहते की लॉकडाउन को अचानक ख़त्म किया जाये।

मुख्यमंत्री ने यह निर्देश दिया कि सभी पंचायतों में कोरोना संक्रमण से लोगों की सुरक्षा के लिए सभी गांवों में सरकार की तरफ से साबुन व चार मास्क दिये जाएं। माइक से लोगों को कोरोना से बचाव व इसके बारे में अन्य जानकारी दी जाए। बैठक में उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, मुख्य सचिव दीपक कुमार, डीजीपी गुप्तेेश्वर पांडेय, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव चंचल कुमार, सचिव मनीष कुमार वर्मा व अनुपम कुमार भी मौजूद थे।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *