#

बिहार में रोजगार के अवसरों की बढ़ोतरी के लिए नए नए उद्योगों को बढ़ावा देने की योजना बनाई जा रही है। विस्तार पूर्वक बताएं तो बिहार के उद्योग मंत्री समीर कुमार महासेठ से हुई बातचीत के बाद यह बात सामने आई है कि बिहार में उद्योगों को बढ़ावा देने के पहले चरण में लगभग 10,000 छोटे छोटे उद्योगों को स्थापित करने का निर्णय लिया गया है एवं बताया जा रहा है कि इन सभी उद्योगों में करीब 35 महिलाओं को प्राथमिकता दी जाएगी।

 

# मखाना प्रोसेसिंग यूनिट का हुआ उद्घाटन___

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि विगत गुरुवार को मंत्री समीर महासेठ द्वारा राजपुर में हुए उद्योग विभाग द्वारा अनुदानित कोसी के पहले मखाना प्रसंग यूनिट के उद्घाटन के दौरान उन्होंने समारोह को संबोधित करते हुए बताया कि इस योजना के पूर्ण होने पे बिहार की सूरत में काफी बदलाव आएगा। जहां एक तरफ रोजगार को इस योजना से बढ़ावा मिलेगा वहीं दूसरी तरफ राज्य की उत्पादकता में भी बढ़ोतरी होगी। जिससे राज्य के विकास के लिए नए द्वार खुलने की काफी संभावना है।

 

उद्योग मंत्री ने एपीआर एग्रो इंडस्ट्रीज की डायरेक्टर प्रीति गोपाल की सराहना करते कहा कि इससे महिलाओं में आत्मविश्वास पैदा होगा। उन्होंने कहा कि कोसी और मिथिलांचल में मखाना की खेती अधिक होती है। किसानों को उपज का उचित मूल्य मिले इसके लिए एपीआर एग्रो इंडस्ट्रीज मील का पत्थर साबित होगा। उन्होंने कहा कि उद्योग से दिव्यांगों को जोड़ने की कार्ययोजना बनायी जा रही है एवं सरकार द्वारा वैसे लोगों को उद्योग लगाने के प्रति जागरूक किया जाएगा,जो इस क्षेत्र में कुछ नहीं कर पा रहे हैं। इसके लिए उन्होंने उद्योग विभाग के जीएम से इंडस्ट्रियल क्रॉप की विस्तृत रिपोर्ट मांगी है।

 

मंत्री ने कहा कि अकुशल मजदूरों को स्थानीय स्तर पर छोटे छोटे उद्योग से काम मुहैया कराया जाएगा। उद्योग मंत्री श्री महासेठ ने लोगों से अपील कि है कि बिहार को विकसित करने के लिए यह जरूरी है कि बिहार की जनता बिहार में ही उत्पादित सामानों की खरीदी करें, एवं इसके अलावा उन्होंने बिहार में उत्पादित सामानों की गुणवत्ता का पूरा पूरा ध्यान रखने की भी बात कही। समारोह में एपीआर एग्रो इंडस्ट्रीज की डायरेक्टर प्रीति गोपाल, दिगंबर प्रसाद यादव, एसपी राजेश कुमार आदि मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *