बिहार में एक लैंड बैंक तैयार कर लिया गया है, जो कि लगभग 3000 एकड़ में फैला हुआ है ।  जिसके आवंटन की बात करें तो जानकारी के मुताबिक अगस्त से आवंटन की प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी। बताया जा रहा है कि इस लैंड बैंक में सबसे अधिक जमीन 2,400 एकड़ की है जिसे चीनी मिलों से लिया गया है। अगर बात करें जमीन के इंफ्रास्ट्रक्चर की तो लगभग 1,800 एकड़ जमीन पर निवेश के लिए जरूरी इंफ्रास्ट्रक्चर विकसित भी हो चुका है। बाकी की जमीन पर जल्द ही इंफ्रास्ट्रक्चर विकसित किया जाएगा। इस योजना के बाद अंदाजा लगाया जा रहा है कि बिहार में निवेश के नए द्वार खोल सकते हैं ।

 

# कौन सी जमीने है खाली__

बियाडा औद्योगिक क्षेत्रों के जमीन की कीमतें हाल ही में घटाई गई है जो कि लगभग 20 से 80 फ़ीसदी तक की कमी बताई जा रही है। इन जमीनों के नए दरों पर आवंटन के लिए बियाडा ने ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया अगस्त से शुरू करने का फैसला लिया है। अब बात करते हैं रिक्त जमीनों की तो आपको बता दें कि ऐसे औद्योगिक क्षेत्र जिनकी जमीनें 20 एकड़ से अधिक हो उनकी संख्या 26 बताई गई है। ऐसे तो निवेश के लिए पूरा लैंड बैंक तैयार है। आधिकारिक जानकारी के मुताबिक प्रदेश के कुल 76 औद्योगिक क्षेत्रों में से 12 औद्योगिक क्षेत्र ऐसे बताए जा रहे हैं, जहां 1 इंच भी जमीन खाली नहीं बची है, वही 12 औद्योगिक क्षेत्रों में 1 एकड़ से भी कम की जमीने एवं अन्य 11 औद्योगिक क्षेत्रों में 1 एकड़ से लेकर 5 एकड़ तक की जमीनें ही खाली बची हुई है।

 

# सबसे अधिक बक्सर के नवानगर शुगर मिल की है जमीन__

पटना जोन के 24 औद्योगिक क्षेत्रों में गया औद्योगिक क्षेत्र , इपीआइपी हाजीपुर, बिहटा, मेगा इंडिस्ट्रियल पार्क बिहटा और कोपाकला में जमीन शेष नहीं हैं । जबकि पाटलिपुत्र , नवादा, जहानाबाद, डेहरी, बिक्रमगंज , ग्रोथ सेंटर गिधा में एक एकड़ से कम जमीन है । पटना जोन में सबसे अधिक लैंड बैंक बक्सर के नवा नगर शुगर मिल्स से अधिग्रहित 439.68 एकड़ जमीन, नवादा वारसलीगंज शुगर मिल्स औद्योगिक क्षेत्र में 60.30 और औरंगबााद के इंडस्ट्रियल ग्रोथ सेंटर में 31 एकड़ जमीन निवेश के लिए खाली है ।

 

# बेला व खगड़िया में जमीन नहीं__

 

सबसे अधिक जमीन बनमनखी में बताई जा रही है, वहीं बेतिया की बात करें तो वहां कोई भी जमीन खाली नहीं बची है।दरभंगा जोन में 15 औद्योगिक क्षेत्र हैं । इनमें बेला और ग्रोथ सेंटर खगड़िया में औद्योगिक क्षेत्रों में जमीन नहीं है । धरमपुर , सहरसा,समस्तीपुर, लोहट मधुबनी के औद्योगिक क्षेत्रों में एक एकड़ से कम रिक्त जमीनें हैं । यहां सबसे बड़ा लैंड बैंक मसलन सुपौल इंडस्ट्रियल इलाका में 93.33, लोहट वन (मधुबनी) शुगर मिल्स में 66.86, सिकटी (मधुबनी) शुगर मिल्स में 46.99, लाेहट मधुबनी में 48.76 एकड़ का है ।

 

# बेतिया में जमीन खाली नहीं__

 

मुजफ्फरपुर जोन के 24 औद्योगिक क्षेत्रों में केवल बेतिया में जमीन खाली नहीं है । वहीं रक्सौल और सीतामढ़ी औद्योगिक क्षेत्र में एक एकड़ से कम जमीन रिक्त है । मुजफ्फरपुर जोन में सबसे बड़े लैंड बैंक मोतीपुर शुगर मिल औद्योगिक फार्म में 208.61 एकड़, बेगूसराय इंडस्ट्रियल ग्रोथ सेंटर में 212.28 , कुमारबाग औद्योगिक क्षेत्र में 337.360 एकड़ , मुजफ्फरपुर औद्योगिक क्षेत्र में 75.52 एकड़ ,गुरौल शुगर मिल्स वैशाली में 51.33 , मोतीपुर शुगर मिल्स बरियारपुर में 54.97 एकड़ भूमि रिक्त है ।

 

# सबसे अधिक बनमनखी में जमीन___

 

भागलपुर जेान के सीताकुंड , इंडस्ट्रियल ग्रोथ सेंटर कहलगांव, लखीसराय, खगरा (किशनगंज ) में जमीन रिक्त नहीं है । वहीं फॉर्बिसगंज और मुंगेर औद्योगिक क्षेत्रों में एक एकड़ से कम जमीन बची है । भागलपुर के सबसे बड़े लैंड बैंक बनमनखी शुगर मिल्स पूुर्णिया में 95 एकड़, भेदियादांगी किशनगंज में 35 एकड़ का लैंड बैंक सुरक्षित है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *