सोमवार, नवम्बर 29

बिहार में ताला तोड़ 22 प्रवासी क्वारंटाइन सेंटर से फरार, अगर ऐसा होता है तो सभी लोगो को ख’तरा

शहर के ऋषि भवन में प्रवासी मजदूरों के लिए बनाए गए क्वारंटाइन सेंटर में बदइंतजामी को लेकर सोमवार की दोपहर जमकर हं’गामा ब’रपा। इस दौरान गेट का ताला तोड़ कुल 22 प्रवासी मजदूर फरार हो गए। जानकारी के मुताबिक कुल 65 मजदूर रविवार की रात को ही बस से यहां पहुंचे थे। सभी पंजाब से आए थे। प्रशासनिक स्तर से सभी को उक्त भवन में क्वारंटाइन किया गया था। वहां मजदूरों व मोहल्ला वासियों ने बताया कि सभी को भवन के अंदर भेजकर बाहर से ताला जड़ दिया गया था।

इस दौरान उसके लिए भोजन व पानी तक की व्यवस्था करने वाला कोई नहीं था। मजदूरों व उनके साथ मौजूद महिला व बच्चों की हालत देख मोहल्ले के कुछ लोगों द्वारा सोमवार को उनके भोजन-पानी का इंतजाम करने की कोशिश की गई, लेकिन यह भी नाकाफी था। इस स्थिति को लेकर मजदूरों ने हंगामा शुरु कर दिया और ताला तोड़ 22 मजदूर फरार हो गए। सूचना मिलते ही सदर एसडीओ नीरज कुमार, नगर थानाध्यक्ष रंजन कुमार सिंह मौके पर पहुंचे। प्रवासी मजदूर शनिवार को यहां रखे गए थे। एसडीओ ने कहा कि मजदूरों के भागने की जांच की जा रही है। क्वारंटाइन से भागने वाले प्रवासी मजदूर पश्चिम बंगाल के थे।

जिले के प्रवासी मजदूर क्वारंटाइन सेंटर में मौजूद हैं। उन्होंने बताया कि अन्य स्थानों के प्रवासी मजदूरों को उनके जिले या राज्य भेजा जाना है। प्रवासी मजदूर के पहुंचने पर स्थानीय लोगों ने स्थानीय प्रशासन को सूचित करते हुए क्वारंटाइन सेंटर में आवासित करा दिया। इनमें बंगाल के मजदूर भी शामिल थे। उन्होंने कहा कि क्वारंटाइन सेंटर से मजदूर के भागने के मामले की जांच कराई जाएगी। दोषी पाए जाने पर संबंधित के वि’रूद्ध कार्रवाई की जाएगी।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *