शुक्रवार, दिसम्बर 3

बिहार में गजब शादी, सात फेरे के बाद प्रेमी संग दुल्हन फ’रार, दूल्हा भी जिदी था दुल्हन लेकर ही लौटा

गोपालगंज जिले के मांझा थानान्तर्गत शेख परसा गांव में शादी के मंडप में घंटों हा’ईवो’ल्टेज ड्रा’मा चला। हुआ यूं कि शादी की रस्म चल रही थी। सात फेरे लेने के बाद दुल्हन लोगों को च’कमा देकर अपने प्रेमी संग फ’रार हो गई और मंडप पर दूल्हे जिद ठा’न ली कि वह यहां से शादी के बाद दुल्हन को लेकर ही घर जाएगा। ये देखकर घरवालों के साथ ही गांव वाले भी परेशान हो गए। सबकी इज्जत पर बात बन आई। फिर लोगों ने एक तरकीब निकाली और गांव की ही एक लड़की से दूल्हे की शादी करा दी। एसे इज्जत भी बच गई और दूल्हे की जि’द भी पूरी हो गई।

हुआ यूं कि गाजे-बाजे संग दूल्हा शादी करने पहुंचा। फिर उसने होनेवाली दुल्हन के साथ सात फेरे लिए। फेरे लेने के बाद दुल्हन धो’खा देकर प्रेमी संग भा’ग गई। बरातियों के हं’गामे के बाद स्थानीय लोगों ने अनो’खा रास्ता निकाला। कुछ घंटे बाद गांव की ही एक अन्य युवती के साथ उसी मंडप पर दोबारा विवाह कराया गया। गुरुवार को दिनभर आसपास के क्षेत्र में महज कुछ घंटों में एक युवक के दो-दो शादियां करने के मामले की चर्चा होती

दरअसल, उत्तर प्रदेश के कुशीनगर जिले के तरेया सुजान थाना क्षेत्र के भगवानपुर गांव से युवक बरात लेकर मांझा थाना क्षेत्र के शेख परसा गांव निवासी अमरनाथ कुशवाहा के घर आया था। निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार विवाह कार्यक्रम शुरू हुआ। फेरे व अन्य रस्में अभी चल ही रही थीं कि अचानक दुल्हन मंडप से फ’रार हो गई। दुल्हन को फ’रार देख दूल्हे और बराती हं’गामा करने लगे।

बरातियों को शांत होते नहीं देख और गांव की बदनामी के डर से गणमान्य लोगों ने पड़ोस की युवती से दोबारा शादी कराने का प्रस्ताव दिया। दूल्हे की स’हमति पर बराती इस पर राजी हो गए। इसके बाद आननफानन में उसी मंडप पर अमरनाथ कुशवाहा के पड़ोसी अर्जुन प्रसाद की पुत्री ङ्क्षचता कुमारी के साथ दूल्हे की दोबारा शादी कराई गई। विवाह सम्पन्न होने के बाद दुल्हन को साथ लेकर दूल्हा व बराती खुशी-खुशी विदा हो गए।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *