#

बिहार से इंजीनियरिंग करने की सोच रहे हैं तो आपके लिए एक खुशखबरी है । बताया जा रहा है कि एआईसीटीई (अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद) ने कुछ कॉलेजों में इंजीनियरिंग के नए कोर्स की मंजूरी दे दी है । जिसमें राज्य के 27 इंजीनियरिंग कॉलेजों और पांच पॉलिटेक्निक कॉलेजों का नाम शामिल है। बात करें कॉलेजों की सीटों की तो इंजीनियरिंग कॉलेजों में 1560 सीटें बढ़ाई गई हैं एवं पॉलिटेक्निक कॉलेजों में 480 सीटें। गौरतलब है कि इन सीटों पर विद्यार्थियों का एडमिशन शैक्षणिक सत्र 2022 – 23 से ही हो पाएगा। विज्ञान एवं प्रावैधिकी विभाग से मिली जानकारी के अनुसार ज्यादातर नए कोर्स में 60-60, तो कुछ कोर्स में 30 विद्यार्थियों का ही नामांकन होना है।

 

# कॉलेजों की प्रवेश क्षमता बढ़ी__

नए कोर्स की अनुमति मिलने से राज्य सरकार के इंजीनियरिंग कॉलेजों में प्रवेश क्षमता 10,865 हो चुकी है। आपको बता दें कि इसके अलावा 5% सीटें ऐसी हैं, जिन पर उन विद्यार्थियों का नामांकन होगा, जिनके माता-पिता की वार्षिक आय 8 लाख से कम है इस स्थिति में सीटों की संख्या बढ़कर 11408 हो जाएंगी।इसी प्रकार पॉलिटेक्निक कॉलेजों की सीटें 12081 हो गई हैं । पांच प्रतिशत सीटें मिलाकर यह संख्या 12685 हो गई है ।बतादें की विभाग ने यह कहा है कि इंजीनियरिंग कॉलेजों की 591 एवं पॉलिटेक्निक कॉलेजों की 390 सीटों की अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद ने कटौती कर दी थी ।

 

# इंजीनियरिंग कॉलेजों में शुरू किए गए नये कोर्स__

 

मुजफ्फरपुर में बॉयोमेडिकल रोबोटिक,छपरा में और कटिहार में फूड प्रोसेसिंग एंड प्रीजर्वेशन कोर्स,बेगूसराय में केमिकल इंजीनियरिंग, दरभंगा में फायर टेक्नोलॉजी एंड सेफ्टी, पूर्णिया और बख्तियारपुर में कंप्यूटर साइंस और फायर टेक्नोलॉजी एंड सेफ्टी,सीतामढ़ी में सीविल इंजीनियरिंग विद कंप्यूटर एप्लीकेशन और कंप्यूटर साइंस, नालंदा में एरोनॉटिकल इंजीनियरिंग, मधेपुरा में थ्री-डी एनीमेशन, सिविल इंजीनियरिंग विद कंप्यूटर एप्लीकेशन, सासाराम इंजीनियरिंग कॉलेज में माइनिंग कोर्स की अनुमति दी गई है ।

 

# 30 सीटें होंगी एमटेक इन सिविल इंजीनियरिंग के कोर्स में__

 

वैशाली जिला बांका, मुंगेर, शिवहर, गोपालगंज, सीवान, लखीसराय, समस्तीपुर, अरवल, खगड़िया, औरंगाबाद, कैमूर, सहरसा, मोतिहारी और पश्चिम चंपारण इंजीनियरिंग कॉलेज में कंप्यूटर साइंस के कोर्स की अनुमति मिली है । अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद ने मुजफ्फरपुर इंजीनियिरंग कॉलेज के लिए एमटेक इन सिविल इंजीनियरिंग के कोर्स की अनुमति दी है, इसमें 30 सीटें होंगी । पहले से राज्य के चार इंजीनियरिंग कॉलेजों में एमटेक की पढ़ाई हो रही है, जिनकी कुल क्षमता 126 है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *