बिहार,( कुलसूम फात्मा )  कुछ दिन पहले  कोरोना के बढ़ते लगातार संख्या को देखते हुए बिहार राज्य सरकार ने सचिवालय बंद करने का आदेश दे दिया था ,क्योंकि बिहार परिषद सचिवालय में एक व्यक्ति की मौत हो गई। और वहीं दूसरी तरफ 18 लोग संक्रमित पाए गए थे। जिससे परिषद के सचिवालय को अप्रैल की 18 तारीख तक बंद कर दिया गया

 

कोरोना का प्रकोप जारी –

लेकिन कोरोना का प्रकोप जारी है। मुंगेर तारापुर के जेडीयू विधायक मेवालाल चौधरी का कोरोना से निधन हो गया। बता दें पटना के पारस अस्पताल में आज सुबह तकरीबन 4:30 बजे अंतिम सांस ली है असल में अप्रैल की 17 तारीख को सांस लेने में मेवालाल चौधरी को परेशानी हुई उसके बाद पारस अस्पताल में एडमिट कराया गया वायरस की रोकथाम के लिए जदयू कार्यालय के साथ बीजेपी कार्यालय में भी ताला लगा दिया गया है। वर्तमान में बिहार राज्य के तीनों खास दलों के कार्यालयों में सभी तरह के कार्यक्रम तथा मीटिंग को कैंसिल कर दिया गया है और तीनों पार्टी कार्यालयों में वर्तमान समय में सन्नाटा छाया है।

 

रविवार के दिन बिहार सरकार की ओर से जारी आंकड़ों के अनुसार कुल 24 घंटे में तकरीबन 27 मरीजों की कोरोना संक्रमण के कारण मृत्यु हो गई है। हालांकि विपक्षी दलों के अनुसार सरकार मौत के सही आंकड़े छुपा रही है। आम जनता भी मानतीे हैं संक्रमण के कारण अपने घर में ही दम तोड़ने वाले नागरिकों का डाटा सरकार नहीं जुटा पा रही है। 17 दिनों में कोरोना संक्रमण की दर 8 गुना हो चुकी है और कोरोना के कुल सक्रिय मामलों की संख्या अब तक 40 हजार के आसपास पहुंच गई है। उपर्युक्त स्थिति को रोकने के बाबत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज सुबह 11:30 बजे कोविड-19 से संबंधित खास मीटिंग की अध्यक्षता कर रहें हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published.