#

बिहार में सड़क हादसों को नियंत्रण करने के लिए एक बहुत हाई बेहतरीन तकनीक का ट्रायल शुरू हो गया है, आपको बता दें की इस ट्रायल के दौरान हाई 12 वाहनो को पकड़कर फ़ाइन किया गया है। फ़ाइन की रक़म प्रति वाहन 2 हज़ार रुपए वसूले गए है। जानकारी हो की पिछले महीने दिसम्बर में एक कार ने बाइक और स्कुटी में भीषण टक्कर हुआ।

 

जिसमें स्कुटी पर सवार सेल्स टैक्स के असिस्टेंट कमिश्नर असीम कुमार की जान चली गई। इसके अलावा दर्जनो हादसे की वजह वाहनो की तेज रफ़्तार ही रही है। ये हादसा पटना के अटल पथ पर हुआ। इसके हादसे के बाद एक्सन लेते हुए पटना पुलिस ने अटल पथ पर तेज गाड़ी चलाने वाले वाहनो को स्पीड रनर गन से पकड़ने में जुट गयी है।

 

इस स्पीड रनर गन से वैसे वाहनो को चिन्हित किया जा रहा है जिनकी स्पीड तय रफ़्तार सीमा से अधिक में चल रही है। पटना के अटल पथ पर वाहनो की गति सीमा 60KM प्रति घंटा तय की गयी है लेकिन कुछ लोग 80 या 100 KM प्रति घंटा से भी अधिक रफ़्तार में चलते देखे जाते है। पटना पुलिस के इस ट्रायल अभियान के बाद स्थाई रूप से स्पीड रनर गन की तैनाती की जाएगी।

 

यातायात पुलिस ने रफ़्तार के शौकिनो को सबक़ सिखाने के लिए कमर कस ली है, अब इस अभियान को धीरे धीरे पूरे बिहार में लागू किया जाएगा। जिससे धीरे धीरे सड़क हादसों में कमी आयगी तथा लोगों की जान माल की भी छती नही होगी।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *