#

आजकल शहरों के युवाओं में जिम जाकर फिटनेस का ध्यान रखने की बात तो आम हो चुकी है। सिर्फ युवक ही नहीं अब तो युवतीया भी इसमें पीछे नहीं रहती, हर जिम में युवकों के साथ-साथ युवतियां भी नजर आने लगी हैं। शहरों की तरह गांवों में भी युवक युवतियां अपनी फिटनेस पर ध्यान दें, इसके लिए बिहार सरकार के पंचायती राज विभाग ने एक योजना तैयार की है, जिसके तहत पंचायतों में ओपन जिम खोलने का निर्णय लिया गया है, जिस पर काम भी शुरू कर दिया गया है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि यह फैसला सरकार ने ग्रामीण क्षेत्रों के युवाओं को बेहतर स्वास्थ्य के प्रति जागरूक करने के लिए लिया है । इतना ही नहीं पंचायती राज विभाग ने सभी जिलों को ओपन जिम खोलने के निर्देश दिए हैं।

 

# किन किन जगहों का होगा निर्माण___

बताया जा रहा है कि पंचायती राज विभाग ने जिलों को 15 वे वित्त आयोग की अनुशंसा से प्राप्त होने वाली राशि से ओपन जिम के निर्माण के निर्देश जारी किए हैं। निर्देश के अनुसार अनटाइड फंड द्वारा ग्राम पंचायतों में ओपन जिम के लिए खेल के मैदान या उद्यानों की व्यवस्था भी करनी है। गौरतलब है कि इसी राशि से आंगनबाड़ी केंद्रों के लिए भी सुविधाएं विकसित की जाएंगी। इसके अलावा जिन स्थानों का निर्माण कराया जाएगा, उनमें विद्युत शवदाह गृह, बस व ऑटो स्टैंड एवं यात्री शेड का नाम मुख्य रूप से शामिल है।

 

इसके अलावा विभाग के एक आदेश के अनुसार पंचायतों में सामुदायिक भवन का निर्माण करवाने की भी संभावना है। ग्राम पंचायतों को जो राशि प्राप्त होगी, उसका लगभग 60% हिस्सा टाइड ग्रांट का माना जाएगा, जिसके तहत कचरा प्रबंधन, प्रत्येक घर में नल का जल एवं पक्की गली-पक्की नाली का निर्माण कराया जाएगा।

 

# पंचायतों के कर्मियों को मिलेगा 8 महीने का मानदेय ।

पंचायती राज मंत्री सम्राट चौधरी से मिली जानकारी के अनुसार पंचायतों में तैनात कर्मियों को विगत 8 माह से उनका मानदेय नहीं मिला है, जिसकी वजह समय पर सेवा विस्तार आदेश निर्गत ना होना बताया जा रहा है। सम्राट चौधरी ने बताया कि 8 महीने के बाद अब इन कर्मियों को इनका मानदेय मिलने जा रहा है, जिनमें पंचायतों में काम करने वाले कार्यपालक सहायक, डाटा एंट्री ऑपरेटर, तकनीकी एवं लेखपाल सहायकों के नाम शामिल हैं । इसके लिए पंचायती राज विभाग ने 3 अरब 1 करोड़ 30 लाख की स्वीकृति प्रदान की है आपकी जानकारी के लिए बता दें कि यह राशि पंचम राज्य वित्त आयोग की अनुशंसा के आलोक में दी जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *