शुक्रवार, दिसम्बर 3

बिहार के एक जिले में स्कूलों के लिए निर्देश जारी, शिक्षकों और बच्चो को मास्क लगाना अनिवार्य

सीबीएसई ने पहले चरण में जिन स्कूलों को खोलने की तैयारी की है, वहां कोविड-19 को लेकर कोई ख’तरा न रहे, इसके भी इंतजाम किए जा रहे हैं. इसके तहत स्कूलों में संक्रमण से बचाव के सभी इंतजाम किए जाएंगे. स्कूलों को सैनेटाइज किया जाएगा. बच्चों और शिक्षकों को मास्क पहनने होंगे और सोशल डिस्टेंसिंग का नियम मानना होगा. स्कूलों को ऑड-ईवन पैटर्न पर चलाने पर विचार किया जा रहा है. इसके तहत रोल नंबर के हिसाब से विद्यार्थी स्कूल आ सकेंगे।

कोरोना वायरस के संक्रमण का खतरा और लॉकडाउन के नियमों के बीच बिहार में केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड यानी सीबीएसई के स्कूल खोलने की तारीख तय हो गई है. बिहार की राजधानी पटना में सीबीएसई स्कूल 15 जुलाई के बाद खुल सकते हैं. ग्रीन जोन में आने वाली जगहों पर स्कूल पहले खोले जाएंगे. सीबीएसई हर राज्य और जिले से स्कूल खोलने की संभावनाओं को लेकर फिलहाल जानकारी जुटा रही है. दरअसल, स्कूल खोलने के फैसले के बाद स्कूलों को जिला प्रशासन से भी परमिशन लेना होगा. प्रशासन उन्हीं स्कूलों को अनुमति देगा, जहां कोरोना का खतरा न हो. इसलिए रेड जोन में स्कूलों को खोलने को लेकर फिलहाल कोई फैसला नहीं लिया गया है।

COVID-19 का खतरा देखते हुए स्कूलों में प्रेयर पर भी पाबंदी होगी. साथ ही बच्चों को एक साथ जमा होकर कोई भी एक्टिविटी करने की मनाही होगी. यहां तक कि बच्चों को स्कूल परिसर में खेल-कूद का भी परमिशन नहीं दिया जाएगा. स्कूल आने वाले सभी छात्र-छात्राओं को अपने साथ सैनेटाइजर लाना होगा. स्कूल ऐसी व्यवस्था करेंगे कि कक्षाओं में भी छात्र सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कर सकें. स्कूल में कैंटीन भी बंद रहेंगे. छात्रों को घर का खाना लाना होगा.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *