बिहार के नाम पर एक और उपलब्धि जुड़ गई है। विस्तार पूर्वक बताएं तो विगत कुछ दिनों पूर्व ही उड़ान योजना के तहत दरभंगा एयरपोर्ट को सबसे सफलतम एयरपोर्ट माना गया है, जिस पर नागर विमानन विभाग की मुहर भी अब लग चुकी है। यहां आपको बता दें कि इस उपलब्धि का खुलासा तब हुआ जब नागर विमानन राज्यमंत्री डॉ विजय कुमार सिंह ने सांसद गोपाल जी ठाकुर के लोकसभा में उड़ान योजना के तहत संचालित दरभंगा एयरपोर्ट की उपलब्धि एवं उपलब्ध सुविधाओं के बारे में पूछने पर जवाब में बताया कि क्षेत्रीय संपर्क योजना (आर सी एस) के तहत दरभंगा एयरपोर्ट सबसे सफलतम एयरपोर्ट माना गया है ।

 

# बात करें पैसेंजर लोड की___

अगर बात करें दरभंगा एयरपोर्ट के पैसेंजर लोड के बारे में तो यहां आपको पता होना चाहिए कि फ्लाइट के मामले में 95% से भी अधिक पैसेंजर लोड फैक्टर के साथ दरभंगा एयरपोर्ट क्षेत्रीय हब बन चुका है। मंत्री जी ने सांसद द्वारा यात्रियों की मूलभूत सुविधा में कमी के बारे में पूछे गए सवाल के जवाब में कहा कि भारतीय विमानन प्राधिकरण द्वारा 120 करोड़ की लागत से एयरपोर्ट का विकास किया गया है। टर्मिनल भवन के निर्माण, कैट वन लाइटिंग, कार पार्किंग, कार्यालयों आदि की व्यवस्था के क्रम में बिहार सरकार से 78 एकड़ भूमि आवंटित किये जाने की प्रतीक्षा की जा रही है । विभाग ने कहा कि हवाई अड्डा का विकास विभिन्न कारकों पर निर्भर है। इसमें भूमि की उपलब्धता, व्यावसायिक व्यवहार्यता, सामाजिक, आर्थिक आदि कारण शामिल होते है ।

 

# जुलाई में 10 लाख तक पहुंची यात्रियों की संख्या।

पिछले माह यहां से यात्रा करने वालों की संख्या 10 लाख को पार कर गयी । 20 माह में 6,899 विमानों से 10 लाख 15 हजार 232 यात्रियों ने सफर किया है। यात्रियों के मामले में दरभंगा एयरपोर्ट देश स्तर पर नामचीन बन चुका है। अप्रैल में सर्वाधिक 83 हजार से अधिक लोगों ने यात्रा की । अबतक सभी महीनों में से सर्वाधिक यात्रियों की संख्या अप्रैल में दर्ज की गई। अप्रैल में अब तक के सर्वाधिक 83 हजार 460 यात्रियों ने यात्रा की । इस महीने में कुल 574 जहाजों ने लैंड व टेक ऑफ किया, जो अब तक का सबसे अधिक आंकड़ा माना जा रहा है।

 

# कब हुई थी दरभंगा एयरपोर्ट पर विमानों की उड़ान सेवा की शुरुआत__

रिकॉर्ड की मानें तो दरभंगा एयरपोर्ट से उड़ान सेवा की शुरुआत 8 नवंबर 2020 को हुई थी। उस समय यहां महज तीन महानगरों के रूट पर उड़ान सेवा की शुरुआत की गई थी, जिनमें महानगर दिल्ली, मुंबई और बेंगलुरु के नाम शामिल हैं । बताया जाता है कि केवल 4 महीनों में ही यहां से यात्रा करने वाले यात्रियों की संख्या 1 लाख के पार पहुंच गई थी। उद्घाटन के चार माह में लगभग 650 उड़ानों से करीब 1.10 लाख लोगों ने दरभंगा एयरपोर्ट से आवागमन किया । इस प्रकार दरभंगा हवाई अड्डा, केंद्र की क्षेत्रीय संपर्क योजना आरसीएस उड़ान के तहत सफलतम एयरपोर्ट साबित हो रहा है । यात्रियों के आवागमन मामले में नित नया रिकार्ड बनाता जा रहा है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.